कोरोना अपडेट: देश में 24 घंटे में आए 55,342 नए केस, 706 लोगों की गई जान, पिछले दो महने में सबसे कम नए मरीज

नई दिल्ली: कोरोना से जुड़ी राहत भरी खबर आज सामने आयी है. देश में कोरोना के रोजाना नए मामले घटे हैं. पिछले 24 घंटे में देश भर में कोरोना के 55 हजार 342 नए केस सामने आए हैं जबकि 706 लोगों की मौत पिछले 24 घंटे में हुई है.

नए केस की बात करें तो यह संख्या पिछले दो महीने में सबसे कम है. ये राहत की खबर इसलिए भी है क्योंकि इससे पहले रोजाना 70 से 80 हजार केस देश भर से आ रहे थे. महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में कोरोना वायरस के एक्टिव केस, मृत्यु दर और रिकवरी रेट का प्रतिशत सबसे ज्यादा है.

देश में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या 71 लाख 75 हजार के आंकड़े को पार कर गयी है. इनमें से एक लाख 9 हजार 856 मरीजों की मौत हो चुकी है. वहीं रिकवरी मामलों की संख्या 62 लाख से ज्यादा है और एक्टिव केस की संख्या घटकर 8,38,729 पर आ गई है. संक्रमण के एक्टिव केस की संख्या की तुलना में रिकवर हुए लोगों की संख्या छह गुना ज्यादा है. देश में लगातार तीन हफ्तों से नए रिकवरी केसों की संख्या, नए कोरोना केसों से ज्यादा आ रही है.

 

ICMR के मुताबिक, 12 अक्टूबर तक कोरोना वायरस के कुल 8,89,45,107 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं, जिनमें से 10,73,014 सैंपल की टेस्टिंग कल की गई. पॉजिटिविटी रेट करीब सात फीसदी है.

 

सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में एक्टिव केस
देश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस महाराष्ट्र में हैं. महाराष्ट्र के बाद आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा एक्टिव केस हैं. एक्टिव केस मामले में दुनिया में भारत का दूसरा स्थान है. कोरोना संक्रमितों की संख्या के हिसाब से भारत दुनिया का दूसरा सबसे प्रभावित देश है. मौत के मामले में अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत का नंबर है.

 

राहत की बात है कि मृत्यु दर और एक्टिव केस रेट में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. मृत्यु दर गिरकर 1.54% हो गई. इसके अलावा एक्टिव केस जिनका इलाज चल है उनकी दर भी घटकर 12% हो गई है. इसके साथ ही रिकवरी रेट यानी ठीक होने की दर 86% पर है. भारत में रिकवरी रेट लगातार बढ़ रहा है.

Check Also

मध्यप्रदेश से हथियार लाकर जोधपुर में बेचने की फिराक में घूम रहे दो अपराधी गिरफ्तार, पांच पिस्टल बरामद

  पांच पिस्टल के साथ पकड़े गए दो युवक पुलिस की गिरफ्त में। अवैध हथियारों …