कैसे करें छोटी-छोटी बचत

सेविंग प्लांस प्रत्येक व्यक्ति नहीं दे पाता परंतु इसके अलावा भी अपनी आदतों में थोड़ा बदलाव करके काफी बचत की जा सकती है। जाने कैसे-

1- बजट बनाएं-:  माह की पहली तारीख को बजट बना कर सामान खरीदना चाहिए। घर में एक माह का राशन बजट बनाकर खरीदने से पता रहता है कि कितना पैसा कहां खर्च हुआ है। सैलरी के अनुसार ही खर्चा पर पैसा को बांटना चाहिए उससे फिजूलखर्ची से बचा जा सकता है।

2- सामान थोक में खरीदें-: कोई सामान फुटकर में रोजाना खरीदने से अच्छा है राशन एक माह में एक बार और सब्जी सप्ताह में एक बार खरीद ली जाए। अधिक सामान लेने पर छूट मिल जाती है अगर आपने महीने में 5,000 का सामान खरीदा तो कम से कम 500 रूपये तक की बचत इकट्ठा सामान खरीदने पर मिल जाएगी, जोकि फुटकर में कभी नहीं मिल सकती।

 

3- फिक्स डेट पर करें बिल/ईएमआई का भुगतान-: बिजली का बिल/ क्रेडिट कार्ड/ इनकम टैक्स/ घर व गाड़ी की ईएमआई का बिल/ इनकम टेक्स आदि की ईएमआई का भुगतान समय पर करें। ड्यू डेट समाप्त होने के बाद भुगतान करने पर पेनाल्टी के रूप में एक्सट्रा अमाउंट चुकाना पड़ता है, जिसे थोड़ी समझदारी से बचाया जा सकता है।

4- इकट्ठा करें छोटे सिक्के-: बाजार से सामान खरीदते समय 5/10/20 के नोट छुट्टे रुपए के रूप में मिलते हैं, उन्हें खर्च करने की बजाए अलग इकट्ठा कर लेंं और 1/2/5 रुपए के सिक्के भी अलग जमा करें। इसी तरह प्रत्येक माह में 1000/ 2000 रुपए तक की बचत आसानी से की जा सकती है, ऐसा करने के लिए बस थोड़ी सी चतुराई और बचत करने के बहाने की आवश्यकता होती है।

 

5- लोन से बचें-: जहां तक संभव हो लोन लेने से बचें, लोन लेने पर इंटरेस्ट अधिक चुकाना पड़ता है। मान लीजिए आपने 6 लाख रूपये का लोन 5 वर्ष के लिए लिया, 5 वर्ष में ईएमआई के जरिए 6 लाख के बदले लगभग 9 लाख रूपये चुकाने होंगे, 3 लाख रूपये आप ब्याज के रूप में भुगतान करते हैं, जिसे लोन न लेकर बचाया जा सकता है।

6- सेल का उठायें फायदा-: थोड़ी सी समझदारी के साथ अगर सेल का फायदा उठाया जाए तो काफी पैसों की बचत की जा सकती है। कपड़ों के अलावा राशन, कॉस्मेटिक, जूते, आदि आइटम्स पर सेल में काफी छूट मिल जाती है, परंतु सेल से सामान खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें कि जरूरत का सामान ही खरीदें। एक्स्ट्रा सामान आपका बजट बिगाड़ सकता है।

Check Also

Karwa Chauth 2020: इन मेहंदी डिजाइन्स को देख हर कोई करेगा आपकी तारीफ

मेहंदी लगाने की परंपरा आज की नहीं है बल्कि प्राचीन समय से ही महिलाएं शुभ …