कैंसर और कॉफी का कनेक्शन:रोज कॉफी पीते हैं तो प्रोस्टेट कैंसर का खतरा 10% तक घट जाता है , बीमार हैं तो 16% तक रिकवरी तेज होती है

प्रोस्टेट कैंसर का खतरा 10 फीसदी तक कम करना है तो कॉफी पीजिए। यह दावा चाइना मेडिकल यूनिवर्सिटी ने किया है। चीनी रिसर्चर्स का कहना है कि कैंसर से जूझ रहे हैं और कॉफी पीते हैं तो रिकवरी 16 फीसदी तक बेहतर होती है। इससे पहले हुई रिसर्च में यह साबित हो चुका है कि कॉफी लिवर, ब्रेस्ट और आंतों के कैंसर का खतरा घटाती है।

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में पब्लिश रिसर्च के मुताबिक, रिसर्चर्स ने कॉफी का कम और ज्यादा इस्तेमाल करने वाले लोगों पर प्रोस्टेट कैंसर के खतरे को समझा। इसमें ऐसे लोग शामिल थे जो रोज एक या दो कप या इससे अधिक कॉफी पी रहे थे। रिसर्च में प्रोस्टेट कैंसर के 57,732 मरीजों का डाटा भी शामिल किया गया।

इसलिए कैंसर से बचाती है
रिसर्चर डॉ. वैंग का कहना है, कॉफी ब्लड शुगर का लेवल सुधारती है। कॉफी सूजन से जुड़ी दिक्कतों से बचाती है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो शरीर में ऐसे फ्री रेडिकल बनने से रोकता है जो कैंसर की वजह बनते हैं।

क्या होता है प्रोस्टेट कैंसर
यह प्रोस्टेट ग्रंथि की कोशिकाओं में बनने वाला कैंसर है। प्रोस्टेट ग्रंथि को पौरूष ग्रंथि भी कहते हैं। प्रोस्टेट ग्रंथि का काम एक गाढ़े पदार्थ को रिलीज करना है। यह वीर्य को तरल बनाता है और शुक्राणु की कोशिकाओं को पोषण देता है।

प्रोस्टेट कैंसर धीमी गति से बढ़ता है। ज्यादातर रोगियों में इसके लक्षण नहीं दिखते। जब यह एडवांस स्टेज में पहुंचता है तो लक्षण दिखना शुरू होते हैं। इसके सर्वाधिक मामले दिल्ली, कोलकाता, पुणे, तिरूवनंपुरम, बेंगलुरू और मुंबई जैसे शहरों में देखे गए हैं।

कितनी पिएं कॉफी
डायटीशियन सुरभि पारीक कहती हैं, एक दिन में एक कप कॉफी लेना ठीक है। इससे अधिक लेते हैं तो शरीर में कैफीन की मात्रा अधिक बढ़ सकती है। दिनभर में 300 से 400 एमजी से ज्यादा कैफीन नहीं लेना चाहिए।

Check Also

पुराने टूथब्रश को फेंके नहीं, इन 5 तरीको से करें इस्तेमाल

जब कभी आपका टूथब्रश पुराना हो जाता है तो आप उसे फेंक देते हैं? लेकिन …