केमिकल फैक्ट्री का बॉयलर फटने से 5 मजदूरों की मौत, परिजन ने कंपनी मैनेजमेंट पर लापरवाही का आरोप लगाया, शव लेने से मना किया

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

महाराष्ट्र के नागपुर जिले में शनिवार को एक केमिकल प्लांट में बॉयलर फटने से 5 लोगों की मौत हो गई। हादसा दोपहर करीब 2 बजे उमरेड तहसील के बेला गांव स्थित मानस एग्रो इंडस्ट्रीज एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड फैक्ट्री में हुआ। मृतकों के परिजन ने फैक्ट्री प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है और शव लेने से इनकार कर दिया है।

धमाके में मरने वालों की पहचान मंगेश प्रभाकर नौकारकर (21), लीलाधर वामनराव शिंदे (42), वासुदेव लादी (30), सचिन प्रकाश वाघमारे (24) और प्रताप पांडुरंग मून (25) के रूप में हुई है। ये सभी बडगांव के रहने वाले थे। पुलिस ने बताया कि सचिन फैक्ट्री में वेल्डर का काम करता था, बाकी सब हेल्पर थे।

हादसे में मारे गए मजदूर कॉन्ट्रेक्ट पर लाए गए थे

यहां शराब बनाने में इस्तेमाल होने वाला केमिकल और एथनॉल तैयार होता था। आज टैंक के पास वेल्डिंग का काम जारी था और इसी दौरान उसमें से गैस लीक हुई और उसमें आग पकड़ने से यह धमाका हुआ। मरने वाले सभी मजदूर कॉन्ट्रेक्ट पर लाए गए थे। नागपुर के पुलिस अधीक्षक राकेश ओला और उमरेड के कांग्रेस विधायक राजू परवे मौके पर मौजूद हैं।

नासिक की इंजीनियरिंग कंपनी को रिपेयर का काम दिया गया था

इस मामले में नासिक की एक इंजीनियरिंग कंपनी को रिपेयर का काम दिया गया था। कंपनी के ठेकेदार प्रशांत शिंदे और पर्यवेक्षक संजय इंगले के खिलाफ आईपीसी की धारा 286 (लापरवाही बरतते हुए जानबूझकर किसी ऐसे स्थान पर विस्फोटक पदार्थ का प्रयोग करना), 287 (मशीन के साथ लापरवाही) और 303 (ए) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

हादसे के बाद ग्रामीण भी वहां इकट्ठा होना शुरू हो गए।

Check Also

सुशांत केस में चिराग ने सीएम नीतीश से की सीबीआई जांच की मांग

नई दिल्ली : लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के अध्यक्ष चिराग पासवान ने बिहार के मुख्यमंत्री …