Home / उत्तर प्रदेश / कुपोषित दलित बच्चो तक नहीं पहुँचती सरकारी खाद्य समाग्री

कुपोषित दलित बच्चो तक नहीं पहुँचती सरकारी खाद्य समाग्री

प्राथमिक विद्यालय के छात्र छात्रों को खिचड़ी खाकर करना पड़ता गुजरा

अर्जून शर्मा रिपोर्टर

बघौचघाट देवरिया। जनपद के पथरदेवा ब्लाक क्षेत्रान्तर्गत गावों में अति कुपोषित बच्चो के लिए भेजी गयी सरकारी खाद्य समाग्री में कालाबजारी जोर पकड़ लिया है जिसकी चर्चा विकास खंड के क्षेत्रों में जोरो पर चल रही है।

जानकारी के अनुसार विकास खण्ड में डाक्टरों की टीम द्ववारा आये दिन ग्राम सभाओ के प्राथमिक स्कूलों पर कुपोषित बच्चो की जांच की जा रही है परन्तु जांच के बाद दोषियो के विरूद्व कोई कार्यवाही नही किया जा रहा है। जिससे सरकारी खाद्य समाग्री एवं पोषक तत्वों में कालाबजारी साफ तौर से दिखाई दे रहा है जिसका जिम्मेदार ग्राम प्रधान वार्ड सदस्य एवं उनके मैनेजमेंट का नतीजा है। इसके साथ प्राथमिक विद्यालयों एवं आंगनबाड़ी में पढ़ने वाले दलित छात्र छात्रों को केवल खिचड़ी खाकर गुजारा करना पड़ रहा है।

बतादें की सरकार द्वारा निर्धारित की गई भोजन के व्यंजनों का समय सारणी नाकाम साबित हो रहे है दूध एघीए सब्जीए फलए फ्राई युक्त दाल एसोयाबीन युक्त सब्जी एजैसे सम्पूर्ण पोषक आहार से बंचित किया जा रहा है भोजन के समय सारणी के अनरूप चलने से आंगनबाड़ी केंन्द्रो व प्राथमिक विद्यालय से ही दिन प्रति दिन वच्चे कुपोषित होते जा रहे है जिसके वजह से सरकार द्वारा कुपोषण के शिकार हुए वच्चो। को स्वस्थ्य बनाने के लिए अधिक से अधिक प्रयास कर रही है सपरन्तु कर्मचायिों व प्रधानों के मनमानी के चलते कुपोषित बच्चों तक पोषक आहार पहुँचा कर उनको कुपोषण से बचाना अधूरा साबित हो रहा है।

Loading...

Check Also

लखनऊ:योगी ने नीति आयोग के अध्यक्ष से की मुलाकात, विकास की तमाम योजनाओं पर चर्चा

लखनऊ   :   उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ...