भोपाल : किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री कमल पटेल ने किसानों से आहृवान किया है कि फसल चक्र में परिवर्तन कर कम लागत में अधिक लाभ प्राप्त करें। उन्होंने हरदा के ग्राम सिरकम्बा के किसान गोकुल करोड़े का खेत में जाकर अभिनंदन किया।

मंत्री पटेल ने कहा कि जमीन की उर्वरा शक्ति को बनाएँ रखने और कम लागत में अधिक से अधिक लाभ प्राप्त करने के लिये फसल चक्र में परिवर्तन करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान निरंतर किसानों की आय को दोगुना करने के लिये विभिन्न योजनाओं से किसानों को लाभान्वित कर रहे है। यदि किसान भाई फसल चक्र में परिवर्तन करेंगे तो उन्हें निश्चित ही लाभ मिलेगा।

मंत्री पटेल ने गोकुल भाई के खेत में जाकर चर्चा की। गोकुल भाई ने बताया कि उन्होंने अपने खेत में इस बार चने की बुआई की। इसमें अधिकतर दो बार पानी देने पर ही 12 से 14 क्विंटल की फसल पर एक एकड़ में एक लाख की फसल प्राप्त होगी। गोकुल ने बताया कि अगर गेहूँ की फसल लेते तो खेत में कम से कम चार बार पानी देना होता, परिश्रम भी अधिक करना पड़ता, लागत भी अधिक आती और 20 क्विंटल की फसल पर भी अधिकतम 40 हजार रूपये ही प्राप्त होते। उन्होंने बताया कि फसल चक्र परिवर्तन से उन्हें लाभ प्राप्त हो रहा है इसलिये वें बदल-बदल कर अपने खेतों में उपज लेते है।