किसान आंदोलन:हर गांव में बनाएंगे सिस्टम, आंदोलन में गए किसान की खेती को दूसरे संभालेंगे : चढ़ूनी

 

भाकियू के प्रदेशाध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा कि आंदाेनल पटरी पर है, मगर इसे लंबा चलाना पड़ेगा। अब हर गांव में सिस्टम बनाएंगे, ताकि आंदाेलन प्रभावित न हाे। शनिवार काे चढ़ूनी ऐतिहासिक गुरुद्वारा श्री गुरु हरकिशन साहिब, पंजाेखरा साहिब में पहुंचे थे।

उन्हाेंने बताया कि बाॅर्डर पर किसानाें की संख्या कम न हाे और खेती भी सही तरीके से चलती रहे, इसके लिए भी किसानाें की सिस्टम बनाकर ड्यूटी लगाएंगे। जाे किसान बाॅर्डर पर हाेगा, उसकी खेती की देखभाल गांव के अन्य किसान करेंगे।

उन्हाेंने बताया कि हरियाणा-पंजाब में ताे किसान आंदाेलन सही चल रहा है। वहीं, दूसरे राज्याें के लाेगाें काे भी साथ जाेड़ने के लिए जागरूक किया जाएगा। वहां जाकर पंचायत करेंगे और उनकाे किसानाें का समर्थन करने के लिए आह्वान किया जाएगा।

जिन राज्याें में चुनाव चल रहे हैं, वहां जाकर लाेगाें काे भाजपा का बहिष्कार करने की अपील की जाएगी। उन्हाेंने सरकार काे निशाने पर लेते हुए कहा कि ट्वीट करने पर केस दर्ज किए जा रहे हैं और हिंदू-सिख के नाम पर लड़ाने की काेशिश की जा रही है। भाजपा फूट डालने वाली पार्टी है। भाजपा सरकार ने हवाई जहाज, बंदरगाह, रेलवे, बिजली, कंपनियां सब बेच दी हैं।

देखो मेरी मोबाइल झोपड़ी

बहादुरगढ़, राेहतक निवासी सोनू किसानों के समर्थन में अपनी चलने वाली झाेपड़ी लेकर सिंघु और टिकरी के बाद शनिवार को गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे। उन्होंने ऑटो के ऊपर झोपड़ी बनाई हुई है, जो सोलर सिस्टम, पंखे, बल्ब और साउंड सिस्टम से लैस है।

झोपड़ी लोगों को पंसद आ रही है। यह 10 फीट लंबी व 3 फीट चौड़ी है। पीछे इसका गेट बनाया है। 6 युवक झोपड़ी को ऑटो में तैयार करके यहां लाए थे। इसकी सबसे बड़ी खासियत सोलर सिस्टम है, जिससे रोशनी के अलावा लाइट के लिए प्रयोग किया जा रहा है।

 

Check Also

बाबरी मस्जिद विध्वंस पर सीएम उद्धव ठाकरे की टिप्‍पणी पर अबू आजमी ने जतायी नाराजगी

मुंबई  : बाबरी मस्जिद विध्वंस पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरेकी टिप्‍पणी पर महाराष्ट्र समाजवादी पार्टी के …