काले दौर में आतंकियों से लोहा लेने वाले शौर्य चक्र से सम्मानित कॉमरेड बलविंदर सिंह की घर में गोली मारकर हत्या

 

शौर्य चक्र से सम्मानित कॉमरेड बलविंदर सिंह भिखीविंड की फाइल फोटो, जिनकी बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी।

  • तरनतारन के कस्बा भिखीविंड में थाने के पास ही रहते बलविंदर सिंह पर सुबह करीब 7 बजे चलाई गई गोलियां, मौके पर ही तोड़ा दम
  • आतंकवाद के दौर में कॉमरेड बलविंदर सिंह पर 20 बार हैंड ग्रेनेड और रॉकेट लॉन्चर से हमले हुए, हर बार आतंकियों ने मुंह की खाई
  • 1993 में दोनो भाइयों और दोनों की पत्नियों को मिला था शौर्य पुरस्कार, इन दिनों घर के पास ही चला रहे थे स्कूल

तरनतारन जिले के कस्बा भिखीविंड में शुक्रवार सुबह कॉमरेड बलविंदर सिंह की बदमाशों ने घर में घुसकर हत्या कर दी। कॉमरेड बलविंदर सिंह ने पंजाब में आतंकवाद के दौर में आतंकियों का बड़ी बहादुरी से मुकाबला किया था। इसी के चलते उन्हें शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया था। उनके जीवन पर कई टैली फिल्म भी बनी थी। परिवार को संदेह है कि यह हमला आतंकी हो सकता है।

हत्या की वारदात के बाद विलाप करती परिवार की महिलाएं और दिलासा देते अन्य परिजन।

हत्या की वारदात के बाद विलाप करती परिवार की महिलाएं और दिलासा देते अन्य परिजन।

पंजाब में जब आतंकवाद चरम सीमा पर था तो कॉमरेड बलविंदर सिंह पर 20 बार हैंड ग्रेनेड और रॉकेट लॉन्चर से हमले हुए। हर बार बलविंदर सिंह ने आतंकियों को नाकों चने चबवाए। कई नामी आतंकियों को उन्‍होंने मार गिराया था। इसके बाद आरएमपीआई की जिला कमेटी के सदस्य और कॉमरेड हरकिशन सिंह सुरजीत के साथी रह चुके कॉमरेड बलविंदर और उनके पूरे परिवार को 1993 में राष्ट्रपति शंकर दयाल शर्मा ने शौर्य चक्र से सम्मानित किया था। उनके साथ उनकी पत्नी जगदीप कौर, भाई रणजीत सिंह और भूपिंदर सिंह को भी शौर्य चक्र और शॉल देकर सम्मानित किया गया था।

कुछ ही समय पहले कॉमरेड बलविंदर सिंह की सुरक्षा वापस ले ली गई थी। उन्होंने पंजाब सरकार के इस फैसले का विरोध किया था, क्योंकि उन पर पहले भी हमला हो चुका था। 2017 में कुछ अज्ञात हमलावरों ने उनके आवास पर कई राउंड गोलियां चलाई थी, लेकिन संयोग था परिवार के सदस्यों में से कोई भी घायल नहीं हुआ।

मिली जानकारी के अनुसार कॉमरेड बलविंदर सिंह अपने घर के पास ही एक स्कूल चला रहे थे। करीब एक साल पहले भी उन पर अज्ञात लोगों ने हमला भी किया था, वहीं शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे एक बार फिर कॉमरेड बलविंदर सिंह पर उस वक्त हमला कर दिया गया, जब वह अपने घर में ही थे। अचानक कई अज्ञात लोग घर में घुस आए और उन्होंने पिस्टलों से कॉमरेड बलविंदर सिंह पर गोलियां चलानी शुरू कर दी, जिससे बलविंदर सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच-पड़ताल शुरू कर दी।

हालांकि उनके भाई रणजीत सिंह ने संदेह जताया है कि यह हमला आतंकी हो सकता है, लेकिन पुलिस अधिकारी अभी यह नहीं बता रहे हैं कि यह आतंकी हमला था या किसी अन्‍य का इसमें हाथ था। दूसरी ओर पुलिस पर ढीले रवैये का भी आरोप है। परिजनों के मुताबिक घटना की जानकारी दिए जाने के आधे घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची, जबकि थाना घर के पास ही है। यह अलग बात है कि बाद में मौके पर डीएसपी राजबीर सिंह भी पहुंचे। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

 

Check Also

मध्य प्रदेश: ग्वालियर में भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प, केस दर्ज

मध्य प्रदेश के  ग्वालियर में भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई। राज्य …