कार और बाइक चलाने वाले के लिए बदल गये ये 3 नियम ,नहीं जानने पर हो सकती है बड़ी समस्या

कार और बाइक चलाने वाले के लिए सरकार ने बहुत ही सख्त पाबंदी लगा दी है अब कार और बाइक चलाने से पहले आपको बहुत सारे बातों का ध्यान रखना पड़ेगा नहीं तो आपके जेब पर बहुत बड़ा ड्राम गिर सकता है । सरकार ने यातायात और सड़क परिवहन के नियमों में बदलाव कर दिए हैं चलिए हम इसके बारे में संपूर्ण जानकारी ले लेते हैं ।
1. Pollution Under Control सर्टिफिकेट जरूरी-सड़क परिवहन मंत्रालय ने देश में वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिए PUC सटिफिकेट लेना अनिवार्य कर दिया है। इसके लिए सरकार ने यूनिफॉर्म PUC सर्टिफिकेट लागू करने का फैसला किया है। जो QR कोड के जरिए आएगा, जिसमें गाड़ी की पूरी डिटेल्स होंगी, जैसे रजिस्ट्रेशन नंबर, मालिक का नाम, एमिशन लेवल वगैरह।
2. BIS सर्टिफाइड हेलमेट पहनना जरूरी: सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने टू व्हीलर मालिकों के लिए बीआईएस के सर्टिफाइड हेलमेट पहनना जरूरी कर दिया है। सरकार का मनना है कि ज्यादातर टू व्हीलर चलाने वाले सस्ते हेलमेट का प्रयोग करते हैं। जो दुर्घटना के समय चोट से बचाने के लिए ना काफी होते है। ऐसे में सड़क हादसे में टू व्हींलर चालक की मौत होने की संभावना ज्यादा बढ़ जाती हैं।
3. गाड़ियों के लिए नॉमिनी जरूरी: सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने केंद्रीय मोटर वाहन नियम, 1989 में संशोधन का प्रस्ताव रखा है। नए नियम के तहत वाहन का मालिक रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट में किसी एक व्यक्ति को नामित (Nominee) कर सकेगा। गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के समय ही नॉमिनेशन सुविधा दिए जाने का प्रस्ताव है। इससे अगर गाड़ी के मालिक की मृत्यु हो जाती है तो वाहन को उसके नॉमिनी को ट्रांसफर करने में मदद मिलेगी।

Check Also

किसानों के समर्थन में बिहार भाकपा (माले) 26 जनवरी को निकालेगा ट्रैक्टर मार्च

पटना, 25 जनवरी । कृषि कानून को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर किसानों का दो …