कार्रवाई:एनआईटी के दो पूर्व अधिकारियों समेत 22 कर्मचारियों को शो-कॉज नोटिस जारी

शो-कॉज नोटिस जारी - Dainik Bhaskar

शो-कॉज नोटिस जारी

  • बीओजी की बैठक 9 मार्च को, जो रिकॉर्ड चाहिए वह मिल पाएगा या नहीं इस पर संशय बरकरार

बर्खास्त डायरेक्टर विनोद यादव से जुड़े मामलों को लेकर स्थानीय राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान के दो पूर्व अधिकारियों सहित कुल 22 फैकल्टी के लोगों को शो कॉज नोटिस जारी किए गए हैं। भर्ती प्रोसेस में बरती गई अनियमितताओं को लेकर जहां-जहां गड़बड़झाला को देखते हुए यह नोटिस जारी किए गए हैं।

काबिले गौर यह है कि इससे पहले भी करीब आधा दर्जन लोगों को शो कॉज नोटिस जारी हुए थे। जिनका जवाब आ चुका है। उनके खिलाफ क्या एक्शन लिया जाएगा इसका फैसला बीओजी बैठक में ही होगा। संस्थान के भीतर इन दिनों यही चर्चा हो रही है कि लपेटे में कौन-कौन लोग आएंगे? किन-किन पर गाज गिरेगी।

इसका प्रोसेस कब तक मुकम्मल होगा और क्या इन लोगों की सूची लंबी होगी या फिर कुछ लोगों तक सीमित रहेगी? क्योंकि एक बात तय है कि इस बार लापरवाही का नजला गिरना तय हैं। दीगर बात यह है कि करीब दो साल तक विनोद यादव यहां से अनियमितताओं और गड़बड़ियों को अंजाम देने के बाद मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा जिस तरीके से बर्खास्त किए, उसमें संस्थान के जवाबदेह कई लोग भी शुमार हैं।

क्योंकि अकेले यादव सब कुछ नहीं कर सकते थे। उसमें जिन लोगों ने हाथ बढ़ाया है। उन पर भी नजला गिरेगा। उन्हें चिन्हित किया जा रहा है, इसीलिए अब शो कॉज नोटिस देकर उनकी जवाबदेही सुनिश्चित की जाएगी। बीओजी की बैठक भी 9 मार्च को है। जिसके लिए कई तरह के अजेंडे तैयार हो रहे हैं।

भर्ती प्रोसेस में जो लोग कसूरवार हैं, उनकी सूची तैयार करके उनके खिलाफ क्या एक्शन लिया जाएगा, वह भी एजेंडे में शामिल होगा। इस मामले में एफआईआर भी दर्ज हो सकती है, इस पर अंतिम फैसला बीओजी में ही होगा।

रिपोर्ट के बाद एक्शन लेंगे…

संस्थान के रजिस्ट्रार योगेश गुप्ता का कहना है कि कुल 22 लोगों को नोटिस दिए गए हैं। इनमें कुछ रिपीट भी हुए हैं। शो कॉज नोटिस में सभी फैकल्टी के लोग शामिल हैं। उनका कहना है कि मारपीट की घटना को लेकर कमेटी गठित की गई है। वह अपनी रिपोर्ट देगी, उसी के बाद एक्शन लिया जाएगा।

मारपीट पर रिपोर्ट तलब…

उधर संस्थान में जिन दो लोगों के बीच आपसी मतभेद को लेकर जो मारपीट की घटना की चर्चा है। उस पर भी संस्थान ने कमेटी गठित करके एक या दो दिनों में उससे रिपोर्ट मांगी है।

 

Check Also

इस इश्क-ओ-मुहब्बत की, कुछ हैं अजीब रस्में… मुस्लिम लड़की ने हिन्दू लड़के संग मंदिर में लिए सात फेरे

बेगूसराय। इस इश्क-ओ-मुहब्बत की, कुछ हैं अजीब रस्में, कभी जीने के वादे, कभी मरने की कसमें… …