कानपुर में 6 महीने बाद सदन:15 जून को नगर निगम सदन, बच्चों का हॉस्पिटल चाचा नेहरू होगा अहम मुद्दा; सड़कें भी होंगी हैंडओवर

 

21 दिसंबर 2020 को नगर निगम का सदन पार्षदों के हंगामे के बाद स्थगित कर दिया गया था।(फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

21 दिसंबर 2020 को नगर निगम का सदन पार्षदों के हंगामे के बाद स्थगित कर दिया गया था।(फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के कानपुर में 15 जून को नगर निगम सदन बुलाया गया है। इससे शहर में रुके विकास कार्यों को पूरा करने में मदद मिल सकेगी। 21 दिसंबर 2020 को नगर निगम का सदन पार्षदों के हंगामे के बाद स्थगित कर दिया गया था। कोरोना वायरस की थर्ड वेव में बच्चों को बचाने के लिए करीब 20 साल बाद कोपरगंज स्थित चाचा नेहरू हॉस्पिटल को फिर से शुरू किया जा रहा है। इसको शुरू करने के लिए सदन की अनुमति बेहद जरूरी है। 4.43 करोड़ रुपए की लागत से हॉस्पिटल को दोबारा शुरू किया जा रहा है। इसमें ओपीडी समेत 50 बेड के साथ हॉस्पिटल शुरू किया जाएगा। हॉस्पिटल को 15 अगस्त तक चालू किया जाना है।

अभी तक पास नहीं बजट
सदन में अभी तक फाइनेंशियल ईयर 2020-21 का बजट अभी तक पास नहीं हो सका है। जबकि सभी बजट को पूरा खर्च किया जा चुका है। इसके अलावा सदन में चालू फाइनेंशियल ईयर के नगर निगम और जलकल के मूल बजट पर भी चर्चा की जाएगी।

रोड भी होंगी ट्रांसफर
महापौर प्रमिला पांडेय ने बताया कि 7 मीटर से चौड़ी 70 से ज्यादा सड़कें पीडब्लूडी को हैंडओवर होनी है। सदन से उन्हें भी स्वीकृति दी जाएगी। कोरोना के चलते सदन की बैठक नहीं हो पाई थी। इसलिए अब बुलाई जा रही है। इसके अलावा सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी हॉस्पिटल को जल्द शुरू करने के निर्देश दिए थे।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

 कैसे हुई पत्रकार की मौत? पुलिस ने बताई ये बात

 उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में टीवी पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की रविवार को संदिग्ध मौत हो …