कानपुर चिड़ियाघर में बढ़ता बर्ड फ्लू:दो मृत कौवों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई; जीवों के पीने के लिए बने तालाब में भी पाया गया वायरस

कानपुर चिड़ियाघर में एक बार फिर बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। यहां बीते रविवार को दो कौवे मृत मिले थे। उनका सैंपल भोपाल स्थित रिसर्च सेंटर भेजा गया था। आज रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। इसके अलावा चिड़ियाघर के तालाबों का पानी भी संक्रमित मिला है। इसके बाद चिड़ियाघर प्रशासन ने और सतर्कता बढ़ा दी है।

बाहर से आए थे कौवे, मिट्टी का नमूना निगेटिव
कानपुर के प्राणी उद्यान में 5 जनवरी को 2 मुर्गी और 2 तोते की मौत हुई थी। जिसकी रिपोर्ट 9 जनवरी को पॉजिटिव मिली थी। जिसके बाद प्राणी उद्यान में सतर्कता बरतते हुए दर्शकों के लिए प्राणी उद्यान के अंदर आने पर रोक लगा दी थी और बर्ड फ्लू प्रोटोकॉल के तहत दवाइयों के छिड़काव से लेकर अन्य सभी व्यवस्थाएं करने में जुट गए थे। तभी स्वच्छंद विचरण करने वाले दो कौवे प्राणी उद्यान के अंदर मृत पाए गए थे।

इसके बाद प्राणी उद्यान प्रशासन ने दोनों कौवे के कारकस और एकत्र किए गए पानी व मिट्टी के नमूने परीक्षण के लिए नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनीमल डिजीज भोपाल भेजा गया था। जिसकी रिपोर्ट बुधवार दोपहर मिल गई है। मृत कौवों एवं (अलग अलग भेजे गये पानी के नमूनों की एक साथ) पूल्ड रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। प्राणी उद्यान के अंदर की मिट्टी के नमूने निगेटिव पाए गए हैं।

चिड़ियाघर को अगले आदेशों तक बंद रखा गया है।
चिड़ियाघर को अगले आदेशों तक बंद रखा गया है।

चिड़ियाघर में ही वायरस को नियंत्रित करने की कोशिश

कानपुर चिड़ियाघर के निदेशक सुनील चौधरी ने बताया कि चिड़ियाघर के बाड़ों में जो पानी के छोटे -छोटे तालाब हैं, उस पानी में बर्ड फ्लू का वायरस पाया गया है। वहीं, मृत मिले दो कौवों में भी बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। चिड़ियाघर को पूरी तरह बंद रखा गया है। आने वाले कुछ दिनों तक यह सावधानी बरती जाएगी। चिड़ियाघर में ही इस वायरस को नियंत्रित करने की कोशिश की जा रही है।

Check Also

उप्र में आयोग ने शुरू की पंचायत चुनाव की तैयारी

लखनऊ, 24 जनवरी । उत्तर प्रदेश में राज्य निर्वाचन आयोग (एसईसी) ने तीन-स्तरीय पंचायत के …