कड़वा’ करेला करता है डायबिटीज को जड़ से खत्म, जाने इसके फायदों के बारे में !

करेला स्वाद में बहुत ही कड़ा होता है और इसका नाम सुनते ही कई लोगों के मुंह का स्‍वाद कड़वा हो जाता है। लेकिन, इसमें कई गुण होते हैं। यह खून तो साफ करता ही है, लेकिन साथ ही मधुमेह रोगियों के लिए यह रामबाण इलाज है। जी हां, यह ‘कड़वा’ करेला डायबिटीज में बिलकुल अमृत की तरह काम करता है। करेला न केवल डायबिटीज बल्कि शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है। तो आइए हम आपको बताते हैं कि करेला मधुमेह रोगियों के लिए रामबाण इलाज कैसे है।

# करेले का प्रयोग एक नैचुरल स्टेरॉयड के रुप में किया जाता है क्‍योंकि इसमें कैरेटिन नामक रसायन होता है जिसका सेवन करने से खून में शुगर का स्‍तर नियंत्रित रहता है। करेले में मौजूद ओलिओनिक एसिड ग्‍लूकोसाइड, शुगर को खून में ना घुलने देने की क्षमता रखता है। यह शुगर लेवल को संतुलित करता है और अग्‍नाशय को इंसुलिन द्वारा अवशोषित होने से रोकता है।

# करेला इसलिए भी मधुमेह के रोकथाम के लिए जरुरी है क्‍योंकि यह एक साथ शुगर को इकट्ठा कर लेता है और सीधे रक्‍तधारा में बहाता है। इससे शरीर को बिना शुगर के लेवल को बढ़ाए ब्रेक डाउन करने में मदद मिलती है।

# करेला जितना शुगर के स्‍तर को संतुलित करता है उतना ही शरीर को पोषक तत्‍व मिलते हैं। पोषक तत्‍व जैसे – तांबा, विटामिन-बी, अनसैचुरेटेड फैटी एसिड मिलते हैं। इन पोषक तत्‍वों से हमारा खून साफ रहता जिससे किडनी और लीवर भी स्‍वस्‍थ रहता है।

Check Also

विटामिन डी की कमी से जल्दी आता है बुढ़ापा, ज्यादा सेवन भी है खतरनाक

नई दिल्ली: हर दिन विटामिन डी (vitamin D) का सेवन शरीर को स्वस्थ्य रखने में महत्वपूर्ण …