Home / Home / ऐसे हुई थी पांडवों की मृत्यु जिसे आप नहीं जानते

ऐसे हुई थी पांडवों की मृत्यु जिसे आप नहीं जानते

महाभारत युद्ध समाप्त होने के  बाद इस दुनिया में केवल अट्ठारह योद्धा ही शेष बचे थे उनमें से पांच पांडव जीवित रहे थे लेकिन पांडवों की 100 साल तक राज करने के बाद उनकी भी मृत्यु हुई थी। जब पांडव इस धरती पर राज करते करते थक गए थे तो उन्होंने अपना सारा राज कार्य अर्जुन के पुत्र परीक्षित को देखकर धरती भ्रमण के लिए निकल गए।

पांडवों ने समस्त धरती का भ्रमण करने के बाद प्रत्यक्ष रूप में स्वर्ग लोक जाने का विचार किया और इसके लिए वह हिमालय पर्वत की ओर चल पड़े। जैसे ही उन्होंने हिमालय की चढ़ाई आरंभ की वैसे ही एक एक करके पांडवों के मृत्यु होने लगी सबसे पहले नकुल की मृत्यु हुई थी।

नकुल के बाद उसके बड़े भाई सहदेव की मृत्यु हुई तथा उसके बाद अर्जुन की मृत्यु और अर्जुन के बाद भीम की मृत्यु हुई थी। महाभारत काव्य के अनुसार इन चारों भाइयों ने अपने जीवन काल में कुछ पाप कर्म किए थे।

इसलिए इनकी मृत्यु हिमालय की चढ़ाई के दौरान हो गई थी जबकि धर्मराज युधिष्ठिर ने अपने जीवन काल में किसी भी प्रकार का पाप कर्म नहीं किया था इसलिए उनको अपने पूरे शरीर के साथ ही स्वर्ग में जाने का अवसर मिला था।

Loading...

Check Also

केजरीवाल संभालते रह गए शिक्षा-स्वास्थ्य

नई दिल्ली: दिल्ली में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने बड़ा सियासी दांव चल दिया ...