ऐसे कदम कभी न उठाएं:यूनिवर्सिटी की तीसरी मंजिल से छात्र ने लगाई छलांग; मैनेजमेंट पर आरोप- छुट्टी मांगी तो सस्पेंड कर दिया

छात्र को कूदते हुए अन्य विद्यार्थियों ने देख लिया था, इसलिए उसे समय रहते बचा लिया गया। - Dainik Bhaskar

छात्र को कूदते हुए अन्य विद्यार्थियों ने देख लिया था, इसलिए उसे समय रहते बचा लिया गया।

  • युवक ने कूदने से पहले एक पत्र लिखा था, जिसमें उसने मैनेजमेंट पर आरोप लगाए हैं

पंजाब के बठिंडा में तलवंडी साबो की गुरु काशी यूनिवर्सिटी की तीसरी मंजिल से विश्वविद्यालय के ही छात्र ने छलांग लगाकर खुदकुशी करने का प्रयास किया। घटना की खबर मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे और घायल छात्र को तुरंत अस्पताल ले गए। हालांकि उसे मामूली चोटें आई हैं, लेकिन इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है। मामला पुलिस तक भी पहुंचा है। बताया जा रहा है कि युवक ने कूदने से पहले एक पत्र लिखा था, जिसमें उसने मैनेजमेंट पर आरोप लगाए हैं।

छात्र ने कूदने से पहले लिखे पत्र में मैनेजमेंट पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

छात्र ने कूदने से पहले लिखे पत्र में मैनेजमेंट पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

छलांग लगाने वाले छात्र की पहचान यूनिवर्सिटी के कृषि विभाग के छात्र मिथुन निवासी केरल के रूप में हुई है। वह अपनी मां के साथ रहता है। उसे किसी कारण से छुटटी चाहिए थी, लेकिन यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट ने उसे छुटटी नहीं दी। युवक ने आरोप लगाया है कि उसे छुट्टी देने के बजाय एक साल के लिए सस्पेंड कर दिया गया।

मिथुन ने कहा कि उसका भविष्य अंधकारमय हो गया है। अगर वह एक साल कॉलेज नहीं आएगा तो पढ़ाई कैसे करेगा और पेपर कैसे देगा‌? मैनेजमेंट ने सस्पेंड करने का कारण भी नहीं दिया है। इससे दुखी होकर उसने खुदकुशी करने का प्रयास किया। मामले में थाना तलवंडी साबो के सब इंस्पेक्टर बलविंदर सिंह जांच कर रहे हैं। पुलिस मिथुन के बयान दर्ज करने गई थी, लेकिन वह सिटी स्कैन कराने गया हुआ था। पुलिस यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट से भी बात करने का प्रयास कर रही है। अगर यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट युवक के खिलाफ कोई पत्र लिखकर देती है तो उसके खिलाफ भी केस दर्ज किया जाएगा।

 

Check Also

बांग्लादेशी डकैत गैंग का पर्दाफाश, तीन आरोपित गिरफ्तार

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बांग्लादेशी गैंग का पर्दाफाश करते हुए …