ऐसी होती है दोस्ती: कार्ड बांटने गए भाई की में मौत, दोस्तों ने 8 लाख रुपए चंदा करके की बहन की शादी

भरतपुर (राजस्थान). यह तस्वीर बताती है कि इंसानियत और दोस्ती का रिश्ता आज भी सबसे ऊपर है। राजस्थान पुलिस के कुछ जवानों ने अपने दोस्त के लिए इंसानियत की मिसाल पेश की है। जिन्होंने अपने दोस्त की मौत के बाद उसकी बहन के हाथ पीले किए।

बहन की शादी के 12 दिन पहले भाई की मौत
दरअसल, सवाई माधौपुर कोतवाली में तैनात कांस्टेबल रामेन्द्रसिंह की 19 जून को एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी। वह अपनी बहन की शादी के कार्ड बांटने के लिए जा रहे थे, इसी दौरान उनकी कार की टक्कर हो गई थी। 12 दिन बाद उनकी बहन की शादी होनी थी, पिता का पांच साल पहले ही निधन हो चुका है। ऐसे में दिक्कत थी कि बहन की शादी कैसे हो, लेकिन साथी दोस्त पूर्व पुलिसकर्मी दौलतसिंह चौधरी, प्रेम सिनसिनी ने सामाजिक सरोकार निभाते हुए बहन की शादी करने का फैसला किया।

दोस्तों ने शादी के लिए एकत्रित किए 8 लाख
दोस्त दौलतसिंह चौधरी, प्रेम सिनसिनी ने कोतवाली थाने के सभी पुलिसकर्मियों को साथ लेते हुए भरतपुर जिले के पुलिसवालों से शादी के लिए 8 लाख रुपए एकत्रित किए। जिसमें से 2 लाख 21 हजार रुपए का दूल्हा का टीका किया और कुछ पैसे से समान खरीदकर दहेज दिया। जैसे-जेवरात, फर्नीचर का सामान, फ्रीज, एलईडी, वाशिंग मशीन, कूलर मिक्सी, सिलाई मशीन, बर्तन, कपडे पूरा घरेलू सामान दिया।

मां व बहन की आंखें भर आई, बेटे की याद कर रो पड़े
दोस्तों ने इतना ही नहीं किया, बल्कि दोस्त की मां के नाम तीन लाख रुपए की एफडी कराई। यह देश दुल्हन और आसपास के लोग रो पड़े, सभी ने कहा आज जो इन पुलिसकर्मियों ने किया है, इतना तो शायद कोई सगा भाई भी नहीं करता।

घर में कोई नहीं बचा कमाने वाला
बता दें कि मृतक कांस्टेबल रामेन्द्रसिंह की पांच बहन हैं। पिता का करीब पांच साल पहले निधन हो चुका है, ऐसे में रामेंद्र ही अपने परिवार की कमाई का इकलौता सहारा था। लेकिन अब वह भी नहीं रहा, परिवार की आर्थिक स्थिति भी खराब है।

Check Also

रेलवे डीजी ने दिया भरोसा, नहीं जाएगी किसी कर्मचारियों की नौकरी पर बदल सकता है जॉब प्रोफाइल

रेलवे डीजी (एचआर) आनंद एस खाती (Anand S Khati) ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया …