ऐतिहासिक रेलवे ट्रैक पर हादसा:वर्कमैन स्पैशल ट्रेन पटरी से उतरी; 4 घंटे बंद रही कालका-शिमला रेल लाइन, जांच के लिए गठित हुई उच्चाधिकारियों की कमेटी

मामले की गंभीरता को देखते हुए अंबाला से डिविजनल रेलवे मैनेजर भी बड़ाेग रेलवे स्टेशन पहुंचे और मौके का जायजा लिया। - Dainik Bhaskar

मामले की गंभीरता को देखते हुए अंबाला से डिविजनल रेलवे मैनेजर भी बड़ाेग रेलवे स्टेशन पहुंचे और मौके का जायजा लिया।

  • रेल चालक की सूझबूझ के चलते इंजन पर कंट्रोल कर लिया गया

वर्ल्ड हैरिटेज कालका-शिमला रेलवे ट्रैक पर मंगलवार को एक हादसा हो गया। वर्कमैन स्पैशल ट्रेन (मालगाड़ी) का एक डिब्बा पटरी से उतर गया। इससे कालका- शिमला रेलवे ट्रैक पर करीब चार घंटे तक गाड़ियों की आवाजाही बंद हो गई। बाद में रिलीफ इंजन आने पर डिब्बे को पटरी से हटाया गया। हालांकि इसमें किसी तरह जानी नुकसान नहीं हुआ है। यह दुर्घटना बड़ोग रेलवे स्टेशन पर दोपहर करीब 11 बजे हुआ। मालगाड़ी कालका से शिमला जा रही थी।

जानकारी के अनुसार, पानी की टंकियां लेकर जैसे ही यह रेल बड़ोग स्टेशन के पास पहुंची तो इंजन के पीछे वाला एक डिब्बा डिरेल हो गया। इससे पूरी ट्रेन पलटने का खतरा पैदा हो गया था। रेल चालक की सूझबूझ के चलते इंजन पर कंट्रोल कर लिया गया। मामले की गंभीरता को देखते हुए अंबाला से डिविजनल रेलवे मैनेजर भी बड़ाेग रेलवे स्टेशन पहुंचे और मौके का जायजा लिया। पटरी की मरम्मत के लिए कालका नैरो गेज शेड से एक्सीडेंटल वैन और एक रिलीफ इंजन बड़ोग पहुंचा और यहा पहुंचकर ट्रैक की मरम्मत की गई। करीब शाम तीन बजे इस मार्ग को बहाल किया गया।

चार घंटे बंद रहा मार्ग

बड़ोग रेलवे स्टेशन के पास मंगलवार को हुई दुर्घटना के कारण शिमला से कालका की तरफ जा रही रेलगाड़ी स्पैशल 04516 डाउन करीब दो घंटे की देरी से कालका के लिए रवाना हुई। इसके अलावा अन्य गाड़ियां भी अपने निर्धारित समय से कुछ देरी पर ही आगे निकली। वर्क मैन स्पैशल ट्रेन कालका शिमला नैरोगेज मार्ग पर कोरोना के समय में 14 अप्रैल 2020 को चलाई गई थी। इस ट्रेन का मुख्य कार्य रेलवे के स्टॉफ को एक से दूसरे स्थान पर लेकर जाना होता है और साथ ही इसमें मालगाड़ी का एक डिब्बा भी शामिल होता है, जिसमें वह उन स्थानों पर पानी की आपूर्ति करते हैं जिन स्टेशनों पर पानी की कमी रहती है। साथ ही दो पैसेंजर गाड़ी के डिब्बे शामिल किए जाते हैं, जिनमें रेलवे स्टॉफ सफर करता है। मंगलवार को अचानक बड़ोग के पास यह हादसा हो गया। हादसे के बाद अंबाला से उच्च अधिकारी और कालका से इंजीनियर व मैकेनिक की टीम भी घटनास्थल पर पहुंची थी। इस दौरान आरपीएफ के जवान भी मौजूद रहे।

उच्च अधिकारी करेंगे मामले की जांच

अंबाला से पहुंचे डीआरएम डिविजनल रेलवे मैनेजर गुरविंद्र मोहन सिंह ने बताया कि इस मामले की जांच उच्च अधिकारियों की कमेटी करेगी। फिलहाल रेल मार्ग को क्लीयर कर दिया गया है। मामले की जांच के लिए एक कमेटी बनाई जाएगी। कमेटी की रिपोर्ट आने के बाद इस हादसे के सही कारणों का पता चल सकेगा। डीआरएम ने बताया कि इस हादसे में कोई व्यक्ति जख्मी नहीं हुआ है। यह एक वर्क मैन स्पैशल ट्रेन थी जिसका इंजन के साथ वाला पहला डिब्ब पटरी से उतर गया था।

 

Check Also

मोगा में दिनदिहाड़े महिला की हत्या:NRI जीजा ने पति के साथ जा रही साली को गोली मारी, 7 साल पहले आरोपी की बेटी ने मृतका के बेटे से इंग्लैंड में की थी लव मैरिज

  घायल महिला को DMC लुधियाना रेफर किया गया, लेकिन वहां इलाज के दौरान उसकी …