एसीबी टीम ने उप तहसील बड़ाखेड़ा में एक पटवारी को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया

बूंदी : भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) टीम ने सोमवार को जिले के लाखेरी कस्बे की उप तहसील में एक पटवारी को 5 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। पटवारी ने जमीन पैमाइश के बदले रिश्वत मांगी थी।

 

 

एसीबी बूंदी के उपअधीक्षक ज्ञान चंद मीणा ने बताया कि परिवादी नया नोहरा जिला कोटा निवासी संजय बडगुर्जर ने शिकायत दर्ज कराई थी। जिसके अनुसार उसकी मां कांताबाई के नाम बड़ाखेड़ा गांव में कृषि भूमि है। जिसकी पैमाइश कर नकल जमाबंदी, खसरा गिरदावरी देने की एवज में इंद्रगढ़ तहसील के बडाखेड़ा पटवारी विकास शर्मा ने रिश्वत मांगी।

 

 

एसीबी द्वारा 17 जून को शिकायत के सत्यापन के दौरान पटवारी विकास शर्मा ने 1 हजार रुपए प्राप्त किये। इसके बाद एसीबी ने आज ट्रैप कार्रवाई का आयोजन किया। आरोपी पटवारी ने उप तहसील कार्यालय लाखेरी में बैठकर परिवादी से रिश्वत राशि 5 हजार लेकर अपने टेबल की रैक में रख ली। तभी मौके पर मौजूद एसीबी टीम ने आरोपी पटवारी को रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। आरोपी पटवारी 10 साल से नौकरी कर रहा है।

Check Also

कोरोना- त्योहारों की आहट, भीड़-भाड़ जमा होने से पहले राज्य लगाएं रोक, केंद्र ने किया आगाह

नई दिल्ली  :  महामारी कोरोना की दूसरी लहर अभी कुछ मंद पड़ी है और तीसरी …