एयरपोर्ट कारोबार अलग करने की तैयारी में अडानी ग्रुप

मुंबई : एशिया के प्रमुख रईसों में गौतम अडानी की अगुवाई वाला अडानी ग्रुप अपने एयरपोर्ट कारोबार को अलग करने की तैयारी में है। जानकारी के मुताबिक इसके लिए शुरूआती बातचीत चल रही है। इसके तहत एयरपोर्ट कारोबार को ग्रुप की होल्डिंग कंपनी अडानी इंटरप्राइजेस से अलग किया जाएगा। इसे यूनिट की लिस्टिंग की दिशा में पहला कदम माना जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक अडानी ग्रुप को अडानी एयरपोर्ट हो‎ल्डिंग में शेयरों के प्राइवेट प्लेसमेंट के जरिए 50 करोड़ डॉलर जुटाने की उम्मीद है। इसके बाद कंपनी का आईपीओ लाया जाएगा। अभी अडानी ग्रुप के पास देश के दूसरे सबसे व्यस्त हवाई अड्डे मुंबई एयरपोर्ट का कंटोल है।

साथ ही 6 और रीजनल एयरपोर्ट भी कंपनी के पास हैं। ग्रुप का लक्ष्य अपने एयरपोर्ट बिजनस का वैल्यूएशन 25,500 से 29,200 करोड़ रुपए पहुंचाने का है। इस बारे में कंपनी के शीर्ष अधिकारियों और संभावित इनवेस्टमेंट बैंकर्स के बीच चर्चा हुई थी। करीब आधा दर्जन ग्लोबल बैंकों और कुछ घरेलू बैंकर हाल में कंपनी के अधिकारियों से मिले थे। लेकिन अडानी ग्रुप एयर पैसेंजरों की संख्या में बेहतरी का इंतजार कर रहा है क्योंकि कोविड के कारण पैसेंजर ट्रैफिक में भारी कमी आई है। इस साल के आ‎खिर तक इसकी लिस्टिंग हो सकती है। इस बारे में अडानी ग्रुप ने उसे भेजे गए सवालों का कोई जवाब नहीं दिया।

Check Also

शेयरों में गिरावट से हैसियत घटी:गौतम अडाणी की नेटवर्थ 39 हजार करोड़ रुपए घटी, एशिया के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति का खिताब भी गंवाया

  फोर्ब्स की अमीरों की लिस्ट में गौतम अडाणी अब 16वें स्थान पर पहुंच गए …