एपल की नई एक्सेसरी:मैग्नेटिक अटैचमेंट बैटरी पैक पर काम कर रही कंपनी, चलते-फिरते वायरलेस तरीके से आईफोन चार्ज करेगी

 

  • इस तकनीक को डेवलप करने में कंपनी को एक साल का समय लगा
  • बैटरी मैगसेफ सिस्टम के जरिए आईफोन के बैक पर कनेक्ट होगी

एपल नए आईफोन्स के लिए एक मैग्नेटिकली अटैच बैटरी पैक पर काम कर रही है। यह एक्सेसरी हैंडसेट को वायरलेस तरीके से चार्ज करेगी और इससे कंपनी को एक और आकर्षक एड ऑन प्रोडक्ट मिलेगा। रिपोर्ट के मुताबिक एपल एक साल से इसे डेवलप कर रही है और आने वाले महीनों में इसे लॉन्च किया जा सकता है।

यह बैटरी पैक कंपनी के मैगसेफ सिस्टम का उपयोग करते हुए बैटरी पैक आईफोन 12 के पीछे अटैच होगा। इस प्रोजेक्ट से जुड़े एक व्यक्ति के अनुसार, बैटरी पैक के कुछ प्रोटोटाइप में एक सफेद रबर बाहर की तरफ होगा। नई एक्सेसरी पिछले आईफोन्स के एपल बैटरी एड ऑन से अलग होगी, जो केवल एडिशनल बैटरी लाइफ प्रदान करती है और प्रोटेक्टिव केस के रूप में काम नहीं करती है।

सॉफ्टवेयर के इश्यू के कारण डेवलपमेंट धीमा
इंटरनल टेस्टिंग में मैग्नेटिक अटैचमेंट सिस्टम चार्जिंग यूनिट के काफी अच्छा साबित हुआ लेकिन सॉफ्टवेयर और पैक ओवरहेटिंग जैसे मुद्दों के कारण इसका डेवलपमेंट धीमा हो गया। इसलिए इसके डेवलपमेंट में देरी हो सकती है। हालांकि एपल के प्रवक्ता ने इसको लेकर कोई कमेंट नहीं किया है।

2019 में एयरपावर मैट का डेवलपमेंट करना पड़ा था बंद
एपल का हार्डवेयर इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट चार्जिंग से जुड़ी एक्सेसरी की लॉन्च करने को लेकर सावधानी बरत रहा है। कंपनी ने 2017 में एक एयरपावर मैट की घोषणा की थी जो एक ही समय में एपल वॉच, आईफोन और एयरपॉड्स इयरफोन को चार्ज करता था। लेकिन यह प्रोडेक्ट अंततः कभी रिलीज नहीं हो पाया और 2019 में ओवरहिटिंग से जुड़े इश्यू के कारण इसके डेवपलमेंट को कैंसिल कर दिया गया।
एक्सेसरीज और वियरेबल्स एपल के लिए रेवेन्यू बढ़ाने स्रोत बन गए हैं। अंतिम तिमाही में एयरपॉड्स, एपल वॉच, होम स्पीकर्स और संबंधित प्रोडेक्ट्स से लगभग 13 बिलियन डॉलर या कंपनी की कुल सेल का 12 प्रतिशत रेवेन्यू जनरेट हुआ।

 

Check Also

2023-24 तक एक अरब टन उत्पादन का लक्ष्य:कोल इंडिया ने 32 माइनिंग प्रोजेक्ट को मंजूरी दी, 47,300 करोड़ रुपए का निवेश कर सकती है

  32 प्रोजेक्ट में से 24 में मौजूदा खानों का विस्तार होना है, बाकी आठ …