एआईएडीएमके नकदी, कपड़ों से लोगों को लुभा रही, तो डीएमके लैपटॉप-सिलाई मशीनें देकर

तमिलनाडु में इस साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इस बार ये चुनाव ज्यादा चुनौतीपूर्ण होने जा रहे हैं, क्योंकि जयललिता और करुणानिधि के निधन से राज्य में करिश्माई चेहरा मौजूद नहीं है। इसी कारण सभी दल जनता को लुभाने के लिए वादों से लेकर तोहफों तक की बारिश करने के लिए तीज-त्योहार में मौके तलाश रहे हैं।

यही देखने को मिल रहा है वहां चल रहे पोंगल उत्सव में। दिवंगत जयललिता की सत्ताधारी एआईएडीएमके तो इसी से चुनाव अभियान शुरू कर रही है। उसने राज्य के प्रत्येक परिवार को 2500 रुपए नकद, गन्ने, एक शर्ट और साड़ी के साथ पोंगल बनाने की सामग्री देने का ऐलान किया है। ये तोहफे सीएम पलानीसामी, स्वास्थ्य मंत्री विजयभास्कर बांटने में खुद जुटे हैं।

इससे पहले, एआईएडीएमके ने ज्यादातर राशन बांटने की दुकानों पर तोहफे के बारे में पोस्टर लगे थे। विपक्षी पार्टी डीएमके इन बैनरों को हटवाने के लिए कोर्ट तक चली गई थी। उसका कहना था कि सरकार लालच देकर लोगों का समर्थन हासिल करने की कोशिश कर रही है। हालांकि जनता इन तोहफों से खुश है।

दूसरी तरफ, एआईएडीएमके की समर्थक भाजपा भी इस मौके को भुनाने में जुटी हुई है। कुछ महीने पहले भाजपा में शामिल हुई अभिनेत्री खुशबू मदुरई में, तो पार्टी ने जनता के साथ 14 जनवरी को पोंगल मनाने का अभियान “नम्मा ओरू पोंगल’ शुरू कर दिया है। इस अभियान के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा तिरुवलूर पहुंच रहे हैं। कांग्रेस भी इस मौके को भुनाने की कवायद कर रही है। पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जल्लीकट्‌टू का गवाह बनने तमिलनाडु पहुंच रहे हैं।

अलागिरी के गढ़ मदुरई में डीएमके कर रही पाेंगल का बड़ा आयोजन

विपक्षी डीएमके पार्टी से अलग हो चुके नेता अलागिरी के गढ़ मदुरई क्षेत्र में पोंगल पर बड़ा आयोजन करने जा रही हैं। इसके अलावा वह लोगों को लैपटाॅप और सिलाई मशीन भी बांट रही है। इससे पहले, कमल हासन की पार्टी कह चुकी है कि सत्ता में आने पर वह गृहणियों को वेतन दिलाने का कानून लाएगी।

Check Also

बांकाः 145 कार्टन विदेशी शराब के साथ दो तस्कर गिरफ्तार

बांकाः जिले के कटोरिया थाना क्षेत्र के बहदिया मोड़ के पास उत्पाद विभाग की टीम ने …