उफनती नदी में घिरे चार बच्चे बचाए:सागर की सुनार नदी में बाढ़ के बीच चट्टान पर फंस गए थे; करीब साढ़े तीन घंटे की मशक्कत के बाद सुरक्षित निकाला

जिले के गढ़ाकोटा क्षेत्र के रंगुवा गांव के पास से निकली सुनार नदी में गुरुवार को अचानक बाढ़ आ गई। नदी का जलस्तर बढ़ने से चट्टान पर मौजूद चार बच्चे पानी के बीच फंस गए। मौके पर ग्रामीणों की मौके पर भीड़ जमा हो गई। सूचना पर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी पहुंचे। करीब साढ़े तीन घंटे के रेस्क्यू अभियान के बाद बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया। इस दौरान कलेक्टर दीपक सिंह और एसपी अतुल सिंह मौके पर पहुंचे और बच्चों से बात की।

बताया जा रहा है, रंगुवा के पास से निकली सुनार नदी में पानी नहीं था। इस कारण गांव के बच्चे नदी के बीच तक पहुंच जाते थे। गुरुवार अलसुबह चार बच्चे राजेंद्र पटेल (8), आनंद पटेल (6), कृष्णकुमार लोधी (15) और दुर्गेश (15) नदी के बीच में चट्टान पर थे, तभी नदी का जलस्तर बढ़ गया। उन्होंने बाहर निकलने की कोशिश की। मगर पानी का बहाव तेज होने कारण चारों चट्टान पर ही फंस गए। बच्चों के मेडिकल जांच कराकर परिजन को सौंपा दिया गया।

बच्चों तक एक गोताखोर पहुंचा, दूसरा रास्ते से लौटा
नदी में फंसे बच्चों को बचाने के लिए रेस्क्यू अभियान चलाया गया। इस दौरान दो गोताखोर नदी में उतरे और बच्चों को सुरक्षित निकालने की कोशिश की, लेकिन पानी का बहाव तेज होने से एक गोताखोर बच्चों तक नहीं पहुंच पाया। वहीं, दूसरा गोताखोर चट्टान तक पहुंचा। बच्चों को निकालने के लिए घाट से रस्सी बांधी गई।

बुधवार रात हुई बारिश से बढ़ा जलस्तर
बुधवार रात सागर समेत पूरे जिले में प्री-मानसून की मूसलाधार बारिश हुई। बारिश से बरसाती नालों में उफान आया। इसी कारण सुनार नदी में भी पानी का जलस्तर बढ़ा। गुरुवार सुबह गढ़ाकोटा और रहली क्षेत्र में सुनार नदी उफान पर रही।

घाटों पर लगी लोगों की भीड़।

घाटों पर लगी लोगों की भीड़।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

जलपाईगुड़ी में दुआरे वैक्सीन की शुरू

जलपाईगुड़ी, 14 जून (हि. स.)। जिले में सोमवार से दुआरे वैक्सीन कार्यक्रम की शुरुआत हुई …