Home / उत्तर प्रदेश / उप्र: अवैध हथियारों की फैक्ट्री बन रहे मदरसे: विहिप

उप्र: अवैध हथियारों की फैक्ट्री बन रहे मदरसे: विहिप

लखनऊ: विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) के धर्माचार्य सम्पर्क प्रमुख शरद शर्मा ने बिजनौर जनपद के एक मदरसे में अवैध हथियारों के मिलने को बहुत बड़ी साजिश का हिस्सा बताया है। इस मामले में उन्होंने योगी सरकार से प्रदेश भर में ऐसे संदिग्ध मदरसों और मस्जिदों की जांच कराये जाने की मांग की है।
उन्होंने कहा कि जब से मोदी और योगी की सरकार देश और उत्तर प्रदेश में आई है। देशवासी अपने को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। लेकिन आज भी समय-समय पर आंतरिक और वाह्य षड्यंत्रकारी अपने साजिश से इस देश को अस्थिर करना चाहते हैं।
उन्होंने कहा पूर्व में भी विहिप कहती आई है कि देश के अनेक ऐसे मस्जिद और मदरसे हैं, जिनकी कार्यप्रणाली संशय पैदा करने वाली है। शिक्षा और इबादत के आड़ में राष्ट्र विरोधी षडयंत्र किये जाते हैं।
उन्होंने प्रश्न उठाया कि आखिर बिजनौर के मुस्लिम मदरसे में व्यापक मात्रा में मिले हथियारों को रखने का उद्देश्य क्या था? पश्चिम उत्तर प्रदेश के अनेक जिलों में पूर्व में लगातार दंगा भड़काने की साजिश की जाती रही है। कही पुनः ऐसा वातावरण तो नहीं बनाया जा रहा है?
उन्होंने कहा कि संघ परिवार पर ऊंगली उठाने वाले छद्म सेक्यूलरवादी और उनके तथाकथित चेलों की फौज शिक्षा की आड़ में चल रहे अवैध मदरसे में मिले अवैध हथियारों पर खामोश क्यों? यह शिक्षा केंद्र या अवैध हथियारों  को पैदा करने वाली फैक्टरी बन रहे हैं। उन्होंने योगी सरकार से इसकी गंभीरता से जांच कराने के साथ मदरसे पर प्रतिबंध लगाने की मांग उठाई।
विश्व हिन्दू परिषद के संगठन मंत्री अवध प्रांत भोलेन्द्र ने बताया कि मैं यह बात नहीं कहा रहा हूं बल्कि उत्तर प्रदेश के शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने मदरसा शिक्षा पर सवाल उठाया था। उन्होंने 21 जनवरी को प्रधानमंत्री के नाम एक पत्र लिखकर देश भर में मदरसे बंद करने का अनुरोध किया है। उन्होंने इस पत्र में कहा है कि मदरसों में छात्रों में आंतकी संगठन आईएसआईएस की विचारधारा फैलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि बिजनौर के मदरसे में मिले अवैध हथियार को देखते हुए ऐसे में पूरे प्रदेश के मदरसे व मस्जिदों की जांच करनी चाहिए। इसके साथ दोषी पाए जाने वालों के खिलाफ ठोस कार्रवाई होनी चहिए।
उल्लेखनीय है कि बिजनौर जिले के शेरकोट इलाके में स्थित ‘मदरसा दारूल कुरआन हमीदया’ में बुधवार को छापेमारी की गई। सीओ अफजलगढ़ कृपाशंकर कन्नौजिया ने बताया कि पुलिस को छानबीन के दौरान पुलिस को मदरसे से 36 बोर का एक पिस्टल व आठ कारतूस, 315 बोर के तीन तमंचे व 32 कारतूस, 32 बोर का एक रिवॉल्वर, कार व 16 कारतूस बरामद किए है। इस मामले में अब तक छह लोगों को गिरफ्तार किया गया। मामले में आगे की जांच जारी है।
Loading...

Check Also

कमलेश तिवारी का परिवार अंतिम संस्कार के लिए हुआ तैयार

हिंदू महासभा के पूर्व अध्यक्ष कमलेश तिवारी हत्याकांड में सरकार ने परिजनों की मांग को ...