उत्तर प्रदेश में पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत पर हंगामा, विपक्ष ने योगी सरकार को घेरा

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ ज़िले में पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की रविवार रात एक ईंट भट्ठे के किनारे संदिग्ध हालात में मौत हो गई. पुलिस इस मौत को दुर्घटना बता रही है जबकि परिजनों को आशंका है कि उनकी हत्या हुई है. इस मामले को लेकर राजनीति भी गरमा गई है.

कांग्रेस की महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर मामले में यूपी की योगी सरकार को घेरा है.

स्थानीय पत्रकार मनोज त्रिपाठी के मुताबिक़, “असलहा फ़ैक्टरी पर कार्रवाई की ख़बर कवर करके रात नौ बजे के क़रीब सुलभ श्रीवास्तव लालगंज से मुख्यालय की ओर आ रहे थे. रास्ते में यह हादसा हुआ. पीछे से आ रहे साथी पत्रकारों ने उन्हें ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया जहाँ कुछ ही देर बाद डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.”

सुलभ श्रीवास्तव की पत्नी रेणुका श्रीवास्तव का कहना है कि जब से उन्होंने शराब माफ़िया के ख़िलाफ़ ख़बर चलाई थी तभी से कुछ लोग उनके पीछे पड़े थे. बीबीसी से बातचीत में उन्होंने कहा, “जब बड़े अफ़सरों को उन्होंने पत्र लिखा था तो मोबाइल पर हमें दिखाया भी था. घर पर बता भी रहे थे कि कुछ लोग पीछे पड़े हैं, धमकी दे रहे हैं. प्रशासन को पत्र इसलिए लिखा था कि शायद सुरक्षा मिल जाएगी. लेकिन उससे पहले ही सब कुछ चला गया.”

योगी सरकार पर निशाना

उधर, पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत को लेकर राजनीतिक दलों के नेताओं ने सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है. आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने इसे हत्या क़रार दिया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “शराब माफ़ियाओं के ख़िलाफ़ ख़बर चलाने के कारण यूपी में एक पत्रकार की हत्या हो जाती है जबकि एक दिन पहले सुलभ जी ने एडीजी को पत्र लिखकर हत्या की आशंका जताई थी, लेकिन सब सोते रहे.”

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव की मौत को लेकर योगी सरकार पर हमला किया है. प्रियंका गांधी ने सवाल किया है कि ‘क्या जंगलराज को पालने-पोसने वाली यूपी सरकार के पास पत्रकार सुलभ श्रीवास्तव जी के परिजनों के आंसुओं का कोई जवाब है?’

प्रतापगढ़ के एसपी आकाश तोमर से जब बीबीसी ने सुलभ श्रीवास्तव के पत्र पर हुई कार्रवाई के संबंध में पूछा तो उनका जवाब था, “मैं कई दिन से छुट्टी पर था. आज ही मैंने ज्वॉइन किया है. उनके पत्र पर क्या कार्रवाई हुई, इसकी जानकारी लेने की कोशिश कर रहा हूँ.”

Check Also

सपा की साइकिल यात्रा को मायावती ने बताया, सस्ती लोकप्रियता के लिए नाटकबाजी

लखनऊ : समाजवादी पार्टी द्वारा जनेश्वर मिश्र की जयंती पर निकाली गयी साइकिल यात्रा को …