उच्च सदन में प्रेमचंद मिश्रा ने ताना मारा:शाहनवाज जी! आप मिथिला के हैं, ऐसा नहीं कहना चाहिए था कि मेरा घर बदलिए..सामने डोम टोली है

 

विधान परिषद् में बोलते कांग्रेस के प्रेमचंद मिश्रा। - Dainik Bhaskar

विधान परिषद् में बोलते कांग्रेस के प्रेमचंद मिश्रा।

  • कांग्रेस MLC ने यह भी कहा कि शाहनवाज को पहले वाला ही आवास देना चाहिए
  • सदन में प्रेमचंद मिश्रा राज्यपाल के अभिभाषण पर बोल रहे थे

बिहार सरकार के उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन ने अपना आवास बदलवा लिया। वे कहते सुने गए कि उनको जो आवास एलॉट किया गया है उस आवास के बाहर सूअर बैठता है…डोम कॉलोनी है…गंदगी है। इसके बाद उनका आवास बदल दिया गया और उनको आवंटित आवास पथ परिवहन मंत्री नितिन नवीन को दे दिया गया। भास्कर ने अपने डिजिटल प्लेटफॉर्म पर यह खबर चलाई थी। आवास से जुड़े इस मामले में उच्च सदन बिहार विधान परिषद् में सोमवार को मंत्री शाहनवाज हुसैन की फजीहत हो गई।

कांग्रेस के MLC प्रेमचंद मिश्रा विधान परिषद् में राज्यपाल के अभिभाषण पर बोल रहे थे और संशोधन की मांग कर रहे थे। इसी संदर्भ में उन्होंने मैथिली भाषा का सवाल भी उठाया कि जिस भाषा को आठवीं अनुसूची में जगह मिली हुई है उसकी पढ़ाई बिहार के प्राइमरी स्कूल में बंद क्यों करा दी गई है? भोजपुरी को भी अष्टम सूची में शामिल किया जाए। प्रेमचंद ने कहा हमसे अच्छी मैथिली मुख्यमंत्री जी बोलते हैं, अशोक चौधरी भी अच्छी मैथिली बोलते हैं। तभी शाहनवाज हुसैन ने कहा कि, हमहूं मैथिली के छी। यह कहना था कि प्रेमचंद मिश्रा ने ताना मारा- शाहनवाज जी हां आप मिथिला के तो हैं, आपने तो यह बयाने देकर गजब कर दिया कि मेरा घर बदलिए..सामने डोम टोली है। ऐसा आपको नहीं कहना चाहिए था।

शाहवनाज हुसैन को मुख्यमंत्री सहित तमाम पार्षदों के समक्ष सदन में लज्जित हो जाना पड़ा। विधान परिषद् सभापति ने इसे कार्यवाही के निकालने को भी नहीं कहा। इस तरह यह आवास मामला सदन की कार्यवाही में भी लिखा गया। विधान परिषद में कांग्रेस के MLC प्रेमचंद मिश्रा ने मीडियाकर्मियों से कहा कि शाहनवाज हुसैन के बयान को उन्होंने सुना है। इससे दुखद बात क्या होगी कि सरकार के एक मंत्री इसलिए अपना घर बदलने को कह रहे हैं कि सामने में सूअर आता है और दलित वर्ग के लोग रहते हैं। इससे ज्यादा आपत्तिजनक बात कुछ नहीं हो सकती।

प्रेमचंद मिश्रा ने कहा कि शाहनवाज हुसैन एक मेच्योर राजनेता हैं। सिर्फ इस वजह से कि उनके घर के आगे डोम लोग रहते हैं इसलिए नहीं रह सकते, यह भारतीय जनता पार्टी की दलितों के प्रति सोच को प्रकट करता है। प्रेमचंद ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को हस्तक्षेप करके उनको उसी टेलर रोड में रहने के लिए कहना चाहिए। उनके कहने पर मकान बदल देना ठीक नहीं। भारतीय जनता पार्टी के विचार को नंगा करने का काम शाहनवाज हुसैन की सोच ने किया है। शाहनवाज हुसैन पर कांग्रेस के बयान के बचाव में भाजपा के MLC संजय मयूख ने कहा कि प्रेमचंद मिश्रा को मुगालता है कि वे सरकार में हैं। आवास देना सरकार का काम है। अशोक चौधरी को सरकार में देखते होंगे तो कांग्रेस को दर्द होता होगा। इतना ही शौक है तो विकास को समर्थन करना चाहिए।

 

Check Also

दौड़ते-दौड़ते सवा लाख के अमेरिकन बुलडॉग की मौत:पटना ​​​​​​वेटनरी कॉलेज में इलाज की पूरी व्यवस्था, वहीं हांफते-हांफते तोड़ दिया दम

  यही है अमेरिकन बुलडॉग जिसकी हुई मौत। डॉक्टरों की पूरी फौज मौजूद लेकिन हालात …