इस मैच में लगे कुल 10 ‘शतक’, एक खिलाड़ी 99 पर अटका, खड़ा हुआ रनों का माउंट एवरेस्‍ट

आप कहेंगे कि एक टीम में कुल 11 ही खिलाड़ी ही प्‍लेइंग इलेवन में खेलते हैं. उसमें से अगर दस ने शतक लगा दिए और एक खिलाड़ी सिर्फ एक रन से ऐसा करने से चूक गया तो टीम का स्‍कोर तो 1100 से भी पार हो गया होगा. चलिए इस पहेली को हम सुलझाते हैं. इस मैच में टीम ने अपना टेस्‍ट क्रिकेट का सबसे बड़ा स्‍कोर बनाया था, जो आज भी सबसे बड़ा स्‍कोर ही है. तो आखिर दस शतक और एक 99 रन की पारी का क्‍या करिश्‍मा था, ये हम आपको बताते हैं. लेकिन उससे पहले ये जरूर जान लीजिए कि आज इसके बारे में बात क्‍यों हो रही है. वो इसलिए क्‍योंकि आज ही के दिन यानी 15 जून को ऑस्‍ट्रेलियाई क्रिकेट टीम ने ये ऐतिहासिक प्रदर्शन किया था.

दरअसल, ऑस्‍ट्रेलिया और वेस्‍टइंडीज (Australia vs West Indies) के बीच 11 से 17 जून 1955 को किंग्‍सटन में ये टेस्‍ट मैच खेला गया था. पहली पारी में वेस्‍टइंडीज ने 357 रन बनाए. क्‍लाइड वॉलकॉट ने 155 रनों की जोरदार पारी खेली तो एवर्टन वीक्‍स ने 56 व फ्रैंक वॉरेल ने 61 रनों का योगदान दिया. ऑस्‍ट्रेलिया के लिए कीथ मिलर ने 6 विकेट लिए. अब ऑस्‍ट्रेलियाई पारी शुरू हुई. 15 जून को ऑस्‍ट्रेलिया ने 8 विकेट खोकर 758 रनों पर अपनी पारी घोषित कर दी. ये स्‍कोर आज की तारीख में भी ऑस्‍ट्रेलियाई टेस्‍ट इतिहास का किसी पारी में सर्वाधिक स्‍कोर है.

7 रन पर गिरे दो विकेट, फिर लगे पांच शतक, इनमें एक डबल सेंचुरी भी

ऑस्‍ट्रेलिया के लिए इस पारी में पांच बल्‍लेबाजों ने शतक लगाए. हालांकि टीम की शुरुआत खराब रही और दो विकेट सात रन पर गिर गए, लेकिन ओपनर कोलिन मैक्‍डोनाल्‍ड ने 127 रन बनाकर शतकों के सिलसिले की शुरुआत की. इसके बाद चौथे नंबर के बल्‍लेबाज नील हार्वे ने 204 रन जड़ दिए. फिर तो नील को मिलाकर लगातार तीन बल्‍लेबाजों ने शतक लगाए. यानी पांचवें नंबर पर कीथ मिलर ने 109 तो छठे नंबर पर रोन आर्चर ने 128 रन जड़े. इसके बाद टीम के लिए पांचवां शतक बनाया आठवें नंबर के खिलाड़ी रिची बेनॉड ने. उन्‍होंने 121 रन की पारी खेली. अब बात करते हैं इस पारी में वेस्‍टइंडीज की ओर से लगे पांच शतकों यानी गेंदबाजों के प्रदर्शन की.

पहली बार पांच गेंदबाजों ने 100 से ज्‍यादा रन लुटाए

विंडीज के लिए ऑस्‍ट्रेलिया की इस पारी में पांच गेंदबाज ऐसे रहे जिन्‍होंने 100 से ज्‍यादा रन लुटाए. इनमें टॉम डेडने ने 24 ओवर में 115 रन देकर एक विकेट लिया तो फ्रैंक किंग ने 31 ओवर में 126 रन की एवज में दो विकेट चटकाए. वहीं डेनिस एटकिंसन ने 55 ओवर में 132 रन देकर एक बल्‍लेबाज का शिकार किया. इसके बाद कोलिन स्मिथ ने 2.4 ओवर में 145 रन देकर दो विकेट हासिल किए. फ्रैंक वॉरेल भी पीछे नहीं रहे और उन्‍होंने एक विकेट के लिए 45 ओवर में 116 रन लुटा दिए. भला हो गैरी सोबर्स का जो 38 ओवर में 99 रन खर्च करने पर ही रुक गए. बहरहाल ये टेस्‍ट इतिहास में तब पहला मौका था जब एक पारी में पांच गेंदबाजों ने 100 से ज्‍यादा रन लुटाए.

Check Also

भारतीय टीम ने रचा इतिहास, 41 साल बाद हॉकी में जीता मेडल

टोक्यो:  टोक्यो ओलंपिक में भारतीय हॉकी टीम ने 41 साल के इंतजार खत्म करते हुए …