इम्यूनिटी सिस्टम मजबूत करने के लिए इस बड़ी गलती से बचें, वरना हो सकती हैं मुंह में फोड़े, नाक से खून आना जैसी 5 समस्याएं

कोरोना वायरस का कोई इलाज नहीं है। फिलहाल इससे लड़ने का एक ही तरीका है और वो है इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत करना ताकि शरीर को वायरस से लड़ने की ताकत मिल सके। यही वजह है कि आयुष मंत्रलय समेत कई अध्ययन ऐसी चीजों के सेवन पर जोर दे रहे हैं जो इम्यून पावर बढ़ाती हैं।

वर्तमान में अधिकतर लोग अपनी प्रतिरक्षा को मजबूत और चुस्त रखने के लिए घर का बनाया हुआ काढ़ा पी रहे हैं। बेशक यह एक स्वस्थ आदत है लेकिन इसके अधिक सेवन से आपके स्वास्थ्य को एक नहीं बल्कि कई तरीकों से नुकसान हो सकते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, कढ़ा बनाने में उपयोग की जाने वाली सामग्री और उनकी मात्रा किसी व्यक्ति की उम्र, मौसम और समग्र स्वास्थ्य पर निर्भर करती है।

ज्यादा काढ़ा पीने के नुकसान

यदि आप हर दिन काढ़ा पी रहे हैं तो आपको नाक से खून बहना, मुंह में फोड़े होना, बहुत अधिक अम्लता, पेशाब की समस्या और अपच जैसे कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।

कढ़ा बनाने के लिए जिन आम सामग्रियों का इस्तेमाल किया जाता है, उनमें काली मिर्च, दालचीनी, हल्दी, गिलोय, अश्वगंधा, इलायची और सोंठ शामिल हैं। ये सभी वस्तुएं शरीर में गर्मी पैदा करती हैं। इस प्रकार इसके अधिक सेवन से नाक से खून बहना और लगातार अम्लता जैसी समस्याएं पैदा कर हो सकती हैं।

Nosebleeds at night: Causes and home remedies

काढ़ा बनाते समय, इसे बनाने के लिए उपयोग की जा रही जड़ी-बूटियों और मसालों की मात्रा के बारे में वास्तव में सावधान रहना होगा। यदि आपको लगता है कि आप जो काढ़ा पी रहे हैं और वो आपको सूट नहीं कर रहा है, तो आप इसमें दालचीनी, काली मिर्च, अश्वगंधा और सोंठ की मात्रा कम कर सकते हैं।

पित्त दोष वाले लोग रहे सावधान

काढ़ा के सेवन से कफ को खत्म करने में मदद मिलती है। इस प्रकार, यह कफ दोष से पीड़ित लोगों के लिए अच्छा है। लेकिन पित्त दोष वाले लोगों को अपने काढ़ा में काली मिर्च, दालचीनी और सोंठ जैसी चीजें डालते समय सावधानी बरतनी चाहिए।

What To Do If You Get Mouth Ulcer? - Revitalizing Smile

भारत में कोविड-19 के मामले पांच लाख के पार

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार भारत में एक दिन में कोविड-19 के 19,459 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 5,48,318 हो गई। वहीं, 380 और लोगों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा 16,475 पर पहुंच गया।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार यह लगातार छठा दिन है जब कोरोना वायरस संक्रमण के 15 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं। देश में एक जून के बाद 3,57,783 मामले सामने आ चुके हैं।

मंत्रालय द्वारा अद्यतन आकंड़ों के अनुसार अभी देश में 2,10,120 मरीजों का इलाज चल रहा है जबकि 3,21,722 लोग उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं एक मरीज देश से बाहर चला गया है। मंत्रालय ने कहा कि अभी तक 58.67 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं।

बिहार में कुल संक्रमितों की संख्या 918 हो गई। तमिलनाडु में सोमवार को कोरोना वायरस संक्रमण के करीब 4,000 नए मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में कोविड-19 के मामलों का आंकड़ा 86,000 के पार चला गया।

इसके अलावा पिछले 24 घंटों में इस संक्रमण से 62 और लोगों की मौतें हुई हैं जिसके बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,141 पर पहुंच गई है। इसी तरह, आंध्र प्रदेश में सोमवार को कोविड-19 के 783 नये मामले सामने आने के बाद संक्रमित लोगों की संख्या 13,891 पहुंच गई जबकि और 11 मरीजों की मौत के साथ ही मृतकों की संख्या बढ़कर 180 हो गई है।

Check Also

लड़को में ऐसी खूबियां देखकर उनकी तरफ आकर्षित होती हैं लड़कियां

हर महिला अपने पार्टनर को लेकर एक इमेज बनाती है। वो अपने होने वाले पार्टनर …