इन 12 राशियों में से ये चार राशियाँ होती हैं खास भाग्यशाली, जाने कौन सी है ये राशियाँ

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार कुल 12 राशियाँ होती हैं और नाम के पहले अक्षर से सी लोगों कि राशियाँ भी बताई जाती हैं. लेकिन ये सभी राशियाँ एक सी नहीं होती है, आज हम आपको ऐसी चार राशियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि 12 राशियों में से सबसे ज्यादा भाग्यशाली होते हैं. वैसे तो ज्योतिषशास्त्र के अनुसार व्यक्ति का चंद्रमा जिस राशि में होता है वही नाम के हिसाब से उस व्यक्ति कि राशि कहलाती है. आईये आपको बताते हैं कि कौन सी है वो राशियाँ जो बेहद भाग्यशाली होती है.

मेष राशि

मेष राशि ग्रहों के चक्र का पहला गढ़ होता है जिसका स्वामी मंगल ग्रह को माना जाता है. मंगल ग्रह को सभी ग्रहों का सेनापति माना जाता है और इसी वजह से इस राशि के लोग काफी शक्तिशाली और नेतृत्व करने वाले मने जाते हैं. आपको बता दें कि मेष राष्ही के जातकों में लीडरशिप का गुण सबसे प्रबल होता है और इसलिए इस राशि के लोगों को बेहद प्रभावमात्मक माना जाता है. चार भाग्यशाली राशियों में से एक मेष राशि भी है जो कि सबसे ज्यादा भाग्यशाली माना जाता है.

वृश्चिक राशि

बता दें कि वृश्चिक राशि का स्वामी भी मंगल ग्रह है और इसी वजह से इस राशि वालों को भी बेहद साहसी और प्रबल माना जाता है. इस राशि के जातकों कि सबसे बड़ी खासियत ये होती है कि ये किसी भी काम को अपने हाथों में लेने से नहीं डरते हैं और ना ही कभी किसी प्रकार का डर इनके मन में होता है ये सभी कामों को बेहद निडर होकर करना पसंद करते हैं. इस राशि के लोग जिस काम को अपने हाथों में लेते हैं उसे बिना पूरा किये दम नहीं लेते. अपनी मेहनत और लगन के दम पर इस राशि के जातक बाकी सभी राशियों के जातकों से काफी आगे निकल जाते हैं और इसलिए ये काफी भाग्यशाली माने जाते हैं.

मकर राशि

मकर राशि के जातकों का स्वामी शनि होता है. शनि ग्रह को बाकी ग्रहों से थोड़ा अलग माना जाता है और इसलिए मकर राशि के लोग भी अन्य राशियों के जातकों कि तुलना में काफी अलग होते हैं. मकर राशि के लोगों पर शनिदेव कि बहुत ही कृपा होती है और इस वजह से ही इस राशि के जातकों में आत्मविश्वास कि कोई कमी नहीं होती है. इस राशि के लोग काफी मेहनती होते हैं और शनिदेव कि कृपा से इनके अंदर अच्छे नेतृत्व कि क्षमता होती है और साथ ही इनमे आत्मविश्वास कि भी कोई कमी नहीं होती है. इस राशि के जातक अपने आत्मविश्वास और मेहनत के बल पर जीवन में हर चीज पा सकते हैं और इसलिए ये राशि सबसे ज्यादा भाग्यशाली कहलाती है.

कुंभ राशि

बता दें कि कुंभ राशि का स्वामी ग्रह भी शनि को ही माना जाता है और सबसे बड़ी बात ये हैं कि शनि को कर्म फल दाता भी कहा जाता है. याकि कि आप जैसा काम करेंगे आपको वैसा फल मिलेगा, इस राशि के लोग यदि पूरी मेहनत और लगन के साथ कोई काम करें तो शनिदेव कि कृपा से उन्हें हर काम में सफलता जरूर हासिल होती है.

Check Also

आखिर क्यों किया था श्री राम ने माता सीता का त्याग, जानें माता सीता की निंदा करने वाले धोबी के पूर्वजन्म की कथा

मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम के जीवन पर आज भी  एक सवाल ऐसा है जिसे  बार …