इन लक्षणों से पता करें कहीं आपको HIV तो नहीं, साथ खाने या टॉयलेट यूज करने से नहीं फैलता HIV

एड्स एक ऐसी भयानक बीमारी है जो व्यक्ति को अंदर से खोखला कर देती है. लोग इस बीमारी के प्रति अभी कम जागरूक हैं. वह कई बार इस बीमारी से अनजान रहते हैं और जब इसका पता चलता है तब इलाज संभव नहीं होता. भारत में हर साल 1 दिसंबर को वर्ल्ड एड्स डे के तौर पर मनाया जाता है. इसका मुख्य उद्देश्य लोगों के बीच एड्स के प्रति जागरूकता फैलाना है. एड्स एक तरह का संक्रामक यानी कि फैलने वाली बीमारी है. एड्स HIV नाम के वायरस से होता है. शुरुवात में लोग अगर लापरवाही न बरतें तो एड्स से बचा जा सकता है. HIV का पता चल जाने पर इसके इलाज के ज़रिये व्यक्ति एक स्वस्थ और नार्मल लाइफ जी सकता है. HIV का इलाज न करने पर यह एड्स का रूप ले लेता है.

किसे कहते हैं HIV?

HIV पॉजिटिव या एड्स कोई बीमारी नहीं है लेकिन इसकी वजह से शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता कम ही जाती है और व्यक्ति को कोई भी बीमारी किसी आम व्यक्ति की तुलना 90 फीसदी जल्दी अटैक करती है. HIV एक प्रकार का वायरस होता है जिसे अंग्रेजी में ह्यूमन इम्यूनो डेफिशियेंसी वायरस के नाम से जाना जाता है. यह वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलने वाला होता है. इस वायरस की मौजूदगी वाले लोगों को HIV पॉजिटिव कहा जाता है.

इन 5 कारणों से फैलता है HIV

* जब कोई HIV पॉजिटिव महिला/पुरुष असुरक्षित संबंध बनाते हैं, तब इस वायरस का फैलने का खतरा रहता है. अब तक HIV/एड्स के जितने मामले भारत में सामने आये हैं उनमें से 86 फीसदी इसी वजह से हैं.

* HIV संक्रमित खून चढ़ाने से. इसकी वजह से एड्स होने के मामले 2.57 फीसदी है.

* HIV पॉजिटिव महिला से पैदा हुए बच्चे में. ब्रेस्ट फीडिंग से यह वायरस फैलता है.

* खून का सैम्पल लेने या खून चढ़ाने में डिस्पोजेबल सिरिंज न यूज करने से. 1.97 फीसदी मामलों में इसकी वजह से एड्स होता है.

* हेयर ड्रेसर या नाई के यहां बिना स्टरलाइज्ड उस्तरा या पुराना इन्फेक्टेड ब्लेड यूज करने से.

HIV के लक्षण

* गला पकना

* सूखी खांसी आना

* उल्टी आना

* हर समय थकावट महसूस होना

* मांसपेशियों में खिंचाव महसूस होना

* बार-बार बुखार आना

* धीरे-धीरे वजन का कम होना

* शरीर पर नीले निशान पड़ना

* ठंड लगना

* भूख कम लगना

* दस्त होना

* स्किन प्रॉब्लम

* गिल्टियां होना

* रात में पसीना

इनके जरिये एक स्वस्थ मनुष्य के शरीर में पहुंचता है HIV वायरस

* ब्लड

* सीमेन (वीर्य)

* वैजाइनल फ्लूइड

* ब्रेस्ट मिल्क

* शरीर का कोई भी दूसरा फ्लूइड, जिसमें खून का अंश मौजूद हो

HIV से जुड़े 5 मिथक

* यह खाने और हवा से फैलता है

* हाथ मिलाने, गले मिलने और एक ही टॉयलेट यूज करने से फैलता है

* एक ही गिलास में पानी पीने, छींकने या खांसने से फैलता है

* टैटू बनाने से फैलता है (बशर्ते औजार स्टरलाइज्ड हों)

* मच्छर के काटने से फैलता है

Check Also

सांप के काटने का ये है अचूक उपाय, आ सकता है आपके काम, बच सकती है पीड़ित की जान

पहला उपाय आपको बता दें कि जब सांप काटता है, तो प्रभावित हिस्से पर उसके …