इन आसान तरीकों से बॉडी को करें Detox, मिलेंगे ढेरों फायदे

नई दिल्ली: डिटॉक्सिफिकेशन (detoxification) का मतलब अपने शरीर को अंदर और बाहर से रिलैक्स, क्लीन्ज करने के साथ-साथ इसे पोषण देना है. इस प्रोसेस में अपने शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालना और स्वस्थ पोषक तत्वों का सेवन करना शामिल है. शरीर को डिटॉक्स करने से आप कई तरह की बीमारियों से खुद को बचा सकते हैं और योग व ध्यान जैसी गतिविधियों के जरिए अच्छा स्वास्थ्य पा सकते हैं.

शरीर को डिटॉक्स करने के लिए हमें एक खास डाइट लेनी होती है जो कि आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर स्वास्थ्य को बेहतर करती है और वजन घटाने मे मदद करती है. इस डाइट में अक्सर लैक्सेटिव, ड्यूरेटिक, विटामिन, मिनरल, हर्बल टी और अन्य फूड्स शामिल होते हैं जिनमें डिटॉक्सिंग गुण होते हैं.

आईए जानते हैं Body Detox के नैचुरल तरीके-

नींबू के रस के साथ गर्म पान पिएं
अपने दिन की शुरुआत एक गिलास गर्म पानी से करें. इसमें नींबू का थोड़ा रस मिलाएं. यह कॉम्बिनेशन शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद करता है. बेहतर परिणामों के लिए आप इसमें कसा हुआ अदरक भी मिला सकते हैं. नींबू और अदरक एक साथ मिलकर पाचन में सुधार करते हैं और मेटाबॉलिज्म को बूस्ट करते हैं.

मेडिटेशन करें
मेडिटेशन या ध्यान ना केवल आपके मन को शांत करता है, मानसिक शांति दिलाता और तनाव को कम करता है, बल्कि यह आपको डिटॉक्स करने में भी मदद करता है. जब जब ध्यान के दौरान लंबी और गहरी सांस लेते हैं तो आपके सिस्टम को पर्याप्त ऑक्सीजन मिल पाती है जिससे शरीर के सभी हिस्से सही तरीके से काम करते हैं.

अल्कोहल का सेवन कम करें
आप जितना अल्कोहल लेते हैं, उसका 90% आपके लिवर में मेटाबॉलाइज होता है. लिवर के एंजाइम एल्कोहल को एसिटाल्डिहाइड में बदल लेते हैं जो कि एक कैंसर पैदा करने वाला केमिकल है. जबकि कुछ स्टडी बताती हैं कि मॉडरेशन में अल्कोहल का सेवन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद हो सकता है, अत्यधिक शराब पीने से कई स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं.

कैफीन नहीं, ग्रीन टी
चाय या कॉफी जैसे कैफीन ड्रिंक्स, आपके शरीर को फायदों से अधिक नुकसान पहुंचा सकते हैं. इनके हानिकारक दुष्प्रभावों से बचने के लिए, इनके बजाय ग्रीन टी पिएं, जो एक बेहतर विकल्प है. ग्रीन टी के फायदे किसी से छुपे नहीं हैं. पाचन तंत्र को क्लीन्ज करने के अलावा, यह शरीर के मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है, जिससे वजन कम करने में मदद मिलती है.

एक्सरसाइज
शरीर को डिटॉक्स करने की बात हों और एक्सरसाइज न हो, ऐसा हो नहीं सकता. आप अपने वर्कआउट रूटीन में योग या रस्सी कूदने जैसे एक्सरसाइज शामिल करें, हर रोज एक घंटा. इसके अलावा, विशेष रूप से डिटॉक्सिफाइंग या क्लींजिंग के लिए उपयुक्त एक्सरसाइज करें साथ ही वो वर्कआउट करें जिनके स्पेसिफिक स्वास्थ्य लाभ हैं.

पूरी नींद
हर रोज अच्छी और गहरी नींद लेना आपके शरीर के स्वास्थ्य और शरीर को नैचुरली डिटॉक्स करने के लिए जरूरी है. केवल 7 घंटे सो लेना काफी नहीं है, बल्कि क्वालिटी स्लीप लेना जरूरी है. जब हम सोते हैं तो हमारा दिमाग  खुद को रिऑर्गनाइज और रिचार्ज करता है. साथ ही पूरे दिन में जमा हुए टॉक्सिन्स को भी रिमूव करता है.

Check Also

कोविड-19 के 80 फीसदी मरीजों में विटामिन डी की कमी का चला पता, शोधकर्ताओं ने किया दावा

विटामिन डी पोषक कोरोना वायरस महामारी के समय अपने निहितार्थ के लिए पहले से ज्यादा …