आलू इन शहरों में 70 पर पहुंचा, प्याज 100 के पार, टमाटर शतक के करीब

सरकार की तमाम कोशिशों के बावजूद आलू के तेवर कम होने के नाम ही नहीं ले रहे। देश के कई शहरों में वैसे तो आलू का भाव 50 रुपये पर पहुंच गया है, लेकिन नासिक, हरिद्वार,  गंगटोक, मायाबंदर जैसे शहरों में यह 51 से 70 रुपये किलो तक पहुंच गया है। वहीं प्याज भी 60 रुपये किलो से नीचे आने को तैयार नहीं है, जबकि टमाटर की लालिमा भी कम नहीं हो रहा है।

 

आलू, प्याज और टमाटर की महंगाई का आलम यह है कि समोसे जहां आलू कम हो गया है तो वहीं टमाटर की चटनी के लाले पड़ गए हैं। सब्जियों प्याज की ग्रेवी पतली होने लगी है। उपभोक्ता मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक 21 नवंबर 2020 को देश के अधिकतर हिस्सों में आलू का भाव 50 रुपये के आसपास रहा। वहीं, सरकार का मॉडल मूल्य 40 रुपये था। वहीं प्याज की बात करें तो इसकी कीमत 20 से 110 रुपये तक थी। जबकि टमाटर 11 रुपये से 80 रुपये किलो तक बिका। 21 नवंबर को देश के प्रमुख शहरों में आलू, प्याज और टमाटर के रेट इस प्रकार रहे…

केंद्र आलू प्याज टमाटर
मायाबंदर 70 110 80
गंगटोक 60 70 60
पोर्ट ब्लेयर 60 90 60
तिरुचिरापल्ली 60 70 30
धारवाड़ 56 75 27
हरिद्वार 55 65 50
पुडुचेरी 55 65 25
तिरूनेलवेली 55 60 30
मेंगलोर 53 60 25
वेल्लूर 52 74 18
नासिक 51 57 36
सोलन 50 60 50
श्रीनगर. 50 70 60
लुधियाना 50 60 50
आगरा 50 60 50
देहरादून 50 60 50
हल्द्वानी 50 60 50
बिलासपुर 50 50 50
अहमदाबाद 50 60 54
मुंबई 50 62 49
शिलांग 50 60 60
दिमापुर 50 60 60
तिरुपति 50 75 37
सूर्यापेट 50 68 28
चेन्नई 50 57 30
कोयंबतूर 50 60 22
दिल्ली 45 55 45
लखनऊ. 45 55 40
गोरखपुर 45 60 40
चंडीगढ़ 42 45 45
ग्वालियर 42 40 33
जेयपोरे 42 54 30
कोलकाता 42 60 50
विजयवाड़ा 42 54 28
गुड़गांव 40 60 50
जम्मू 40 70 50
कानपुर 40 55 57
इलाहाबाद 40 60 45
भोपाल 40 40 35
इंदौर 40 40 40
झाँसी 39 40 41
सूरत 39 60 30
पुणे 39 41 22
मैसूर 39 68 11
वाराणसी 38 42 40
मेरठ 38 50 45
जगदलपुर 38 65 50
हिसार 35 55 35
रायपुर 35 60 30
अंबिकापुर 35 20 40
भुज 35 52 50
रीवा 35 40 40
वारंगल 35 51 30
बेंगलुरु 30 55 27
न्यूनतम मूल्य 30 20 11
मॉडल मूल्य 40 60 50
अधिकतम मूल्य 70 110 80

स्रोत: राज्य नागरिक आपूर्ति विभाग

Check Also

केंद्र सरकार के इस नियम के बाद जनवरी से हर गाड़ी पर Fastag लगवाना होगा जरूरी

केंद्र सरकार लोगों के बीच टोल कलेक्शन के लिए जरूरी फास्टैग को लोकप्रिय बनाने के …