आरसी के लिए अप्लाई:हाई सिक्याेरिटी नंबर प्लेट लगाए बिना आरसी को किया अप्लाई, 100 फाइलें अटकीं, 416 ने नहीं भरी कोरियर फीस

 

  • पठानकोट में प्रिंटिंग का काम बंद, चंडीगढ़ भेजी जा रहीं फाइलें, आरसी व लाइसेंस मिलने में हो रही देरी

पठानकोट आरटीए दफ्तर में आरसी को लेकर प्रिंटिंग बंद होने से करीब 100 केस ऐसा सामने आए हैं जिन्होंने बिना हाई सिक्याेरिटी नंबर प्लेट लगाये आरसी के लिए अप्लाई किया हुआ था। अब उनके लिए टेंशन यह है कि जब तक वह अपने दुपहिया वाहन हो या चौपहिया वाहन पर हाई स्कियोरिटी नम्बर प्लेट नहीं लगाएंगे तब तक उनकी आरसी उन्हें नहीं मिल पायेगी।

हालांकि एक महीना पहले आरटीए दफ्तर पठानकोट द्वारा 800 फाइलों को चंडीगढ़ प्रिंटिंग के लिए भेजा गया था जिसमें से 416 केस ऐसे दफ्तर को प्राप्त हुए हैं जिन्होंने बिना कोरियर फीस जमा करवाए आरसी के लिए अप्लाई किया हुआ था लेकिन ट्रांसपोर्ट विभाग चंडीगढ़ द्वारा उन लोगों को सीधे आरसी न भेजकर दफ्तर पठानकोट को आरसी भेज सूचित किया है कि जब तक वह लोग कोरियर फीस जमा न करवाते तब तक

आरसी नहीं दी जाएगी। जिसे लेने के लिए लोग चक्कर लगा रहे हैं। अधिकतर चक्कर उन लोगों के लग रहे हैं जिन्होंने अपने वाहनों पर हाई सिक्याेरिटी नम्बर प्लेट लगाये बिना ही आरसी के लिए चंडीगढ़ अप्लाई किया था ऐसे लोगों की आरसी चंडीगढ में फंस गई है अब जब तक अपने वाहनों पर हाई सिक्याेरिटी नम्बर प्लेट नहीं लगा लेते तब तक उन्हें आरसी मिलना मुश्किल है।

एक माह पहले पठानकोट से चंडीगढ़ प्रिंटिंग के लिए भेजी गई थी 800 फाइलें

4 जनवरी से लाइसेंस व आरसी की फाइलें रिसीव होना बंद- एक महीना पहले ट्रांसपोर्ट विभाग द्वारा नए साल में बदलाव करते हुए आरटीए कार्यालय में नए व पुराने लाइसेंस और आरसी की फाइले 4 जनवरी के बाद दफ्तरों में रिसीव करने पर रोक लगा दी गई थी। प्रिंटिंग का सारा काम चंडीगढ़ में होना शुरू हो गया।

इसके पश्चात पठानकोट दफ्तर से प्रिंटिंग का काम बंद हो जाने से 800 फाइलें लटक गई और इन फाइलाें काे प्रिंटिंग के लिए चंडीगढ़ भाेजना पड़ा, उसका स्टेटस अब यह है कि ट्रांसपोर्ट विभाग चंडीगढ़ ने 100 ऐसे केसों की आरसी रोक ली है जिन्होंने अपने वाहनों पर बिना हाई सिक्याेरिटी नंबर प्लेट के आरसी के लिए अप्लाई कर रखा था अब वह लोग दफ्तर में चक्कर लगा रहे हैं।

दफ्तर में 416 आरसी, लाइसेंस के केस पहुंचे- दफ्तर में 416 आरसी, लाइसेंस के केस पहुंचे है जिन्होंने अप्लाई के दौरान कोरियर फीस नहीं भरी अब दफ्तर में उनसे कोरियर फीस वसूलकर ही आरसी, लाइसेंस दिये जा रहे हैं। जिनकी फाइलें कंप्लीट चंडीगढ़ पहुंची है उनकी आरसी, लाइसेंस विभाग द्वारा उनके घर कोरियर द्वारा पहुंचाया जा रहा है।

 

Check Also

विरोध और नारेबाजी:महम में राज्यसभा सांसद जांगड़ा की गाड़ी घेरकर दिखाए काले झंडे

  महम में राज्यसभा सांसद जांगड़ा की गाड़ी का घेराव कर रहे किसानों को समझाती …