आबकारी विभाग के रिटायर्ड उपायुक्त और उनकी पत्नी गिरफ्तार; आय से अधिक संपत्ति मामले की विजिलेंस कर रही थी जांच

 

डीजी विजलेंस रामा पीवी शास्त्री ने बताया कि, मुकदमा दर्ज कर दोनों को जेल भेज दिया है।

  • दोनों आरोपियों को प्रयागराज स्थित आवास से पकड़ा गया
  • मिर्जापुर और वाराणसी में आय से अधिक संपत्ति बनाने का आरोप

विलिजेंस लखनऊ की टीम ने सोमवार को रिटायर्ड उप आयुक्त आबकारी भारत रत्न अशोक और उनकी पत्नी सुधारानी को उनके प्रयागराज स्थित आवास से गिरफ्तार किया है। दोनों पर आरोप है कि मिर्जापुर और वाराणसी में आय से अधिक संपत्ति बनाई है। शासन से अभियोजन की स्वीकृति मिलने के बाद इस मामले में विजिलेंस की टीम ने कार्रवाई की है। डीजी विजलेंस रामा पीवी शास्त्री ने बताया कि, मुकदमा दर्ज कर दोनों को जेल भेज जा रहा है।

फर्जी कंपनी बनाकर शराब का दिलवाते थे टेंडर
डीजी विजिलेंस ने बताया कि फर्जी कंपनी बनाकर अशोक अपने करीबियों को शराब का ठेका दिला रहे थे। दोनों को प्रयागराज के कर्नलगंज थाना क्षेत्र के नया कटरा बेली रोड स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया है। अशोक वाराणसी में मण्डल आबकारी उप आयुक्त के पद पर तैनात रहे हैं। 24 जून 2009 में मिर्जापुर के सदर कोतवाली में भारत रत्न अशोक श्रीवास्तव उनकी पत्नी समेत अन्य पर मुकदमा दर्ज हुआ था। फर्जी फर्म बनाकर आबकारी विभाग में ठेके दिलाने का फर्जीवाड़ा करने का लगा था। फर्जीवाड़े की जांच विजिलेंस कर रही थी। शासन स्तर से अनुमति मिलने के बाद आज दोनों को गिरफ्तार किया गया।

 

Check Also

मायावती के पास राजनीतिक ताकत बढ़ाने के लिए सिर्फ भाजपा के साथ जाने का बचा विकल्प? 27 साल में कर चुकी हैं 5 बार गठबंधन

यह फोटो लोकसभा चुनाव के दौरान मैनपुरी की है। बसपा प्रमुख मायावती, सपा अध्यक्ष अखिलेश …