आज रात बारह बजे से पैट्रोल और डीजल के दामों में भारी कटौती

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने बढ़ते दामों को रोकते हुए जनता को राहत दी है। सरकार द्वारा पेट्रोल और डीजल (Petrol and diesel) के दामों में एक-एक रूपये की कटौती की है। इस नियम को रविवार की रात से लागू किया जाएगा। राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव से पूर्व तृणमूल सरकार ने प्रदेशवासियों को यह मामूली ही सही पर राहत दी है।

 

पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा ने इस बात की घोषणा की। उल्लेखनीय है कि देशभर में पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। इससे पूर्व मेघालय सरकार ने पेट्रोल व डीजल के दाम में सात रुपये की छूट दी है। देश के कई राज्यों में तेल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर के आसपास पहुंच गए हैं। जिसको देखते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चुनावी दौर में ऐसा करके जनता का रूख अपने तरफ करने का प्रयास किया है।

राम के देश में क्यों महंगा है पैट्रोल

लगातार देश में बढ़ रहे पेट्रोल और डीजल के दामों को देखते हुए पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने पिछले दिनों खेद जताया था। उन्होंने कहा था कि तेल संपन्न देश तेल के उपभोग कर्ता देशों के हितों के बारे में नहीं सोच रहे है। जबकि जनता से देश है, देश से जनता नहीं। इससे पहले प्रधान ने राज्यभा में तेल कीमतें कम नहीं कर पाने को लेकर लाचारी जताई थी।

राज्यसभा में भी उठा था मामला

लगातार महंगे पेट्रोल के दामों का मुद्दा राज्यसभा में भी उठा था। जिस पर  सपा सांसद विशंभर प्रसाद निषाद ने राज्यसभा में मौजूद लोगों से पूछा कि, ‘सीता माता के देश नेपाल और रावण के देश श्रीलंका में पेट्रोल-डीजल सस्ता है, तो राम के देश में सरकार दाम कम क्यो नहीं कर रही।?’  इस पर प्रधान ने कहा था कि, ‘देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें एक अंतरराष्ट्रीय मूल्य प्रणाली के तहत नियंत्रित होती हैं। पिछले 300 दिनों में करीब 60 दिन तेल की कीमतों में वृद्धि हुई है। किसी अन्य देश से हम भारत की तुलना नहीं कर सकते है। ऐसा इसलिए क्योंकि भारत और इन देशों में केरोसीन की कीमत में काफी अंतर है।

Check Also

कर्ज की वसूली के लिए तैयारी:सिस्का LED लाइट्स में से बड़ी हिस्सेदारी बेच सकता है HDFC बैंक, पहले चरण की बातचीत शुरू

  कोविड-19 के कारण सिस्का LED का कारोबार बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। HDFC …