लखनऊ : उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रमुख मायावती आखिरकार चुनाव प्रचार अभियान का आगाज करने जा रही हैं। बसपा सुप्रीमो पहले फेज के मतदान से ठीक 8 दिन पहले आगरा में जनसभा करने करने जा रही है। हालांकि, कोरोना की वजह से चुनाव आयोग ने फिलहाल नेताओं को जनसभा या रोड शो करने की इजाजत नहीं दी है। बीएसपी के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने मंगलवार को इसकी जानकारी देते हुए कू पर लिखा, ”अवगत कराना है कि दिनांक 2 फरवरी 2022 को बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री माननीया बहन कु.  मायावती जी आगरा में कोविड नियमों का पालन करते हुए जनसभा को  संबोधित करेंगी। जनसभा का समय, स्थान और आगामी जनसभाओं की सूचना मीडिया बंधुओं को शीघ्र उपलब्ध कराई जाएगी।”

उत्तर प्रदेश की चार बार मुख्यमंत्री रहीं मायावती ने इस बार विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार का आगाज नहीं किया है। चुनाव तारीखों के ऐलान से पहले जहां बीजेपी और सपा ने कई बड़ी रैलियां कीं तो मायवाती इस दौरान शांत रहीं। मायावती की निष्क्रियता को लेकर उनके वोटर्स ही नहीं राजनीतिक जानकार भी हैरान हैं। हाल ही में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने भी इस पर हैरानी जताते हुए तंज कसा था कि मायावती बीजेपी के दबाव में प्रचार नहीं कर रही हैं।