आकांक्षा को भी मिले 720 में से 720 मार्क्‍स, फिर आकांक्षा सिंह को क्यों मिली दूसरी रैंक, ये रही बड़ी वजह

नीट का परिणाम शुक्रवार को जारी कर दिया गया। नीट के इतिहास में पहली बार दो विद्यार्थियों ने 720 में से 720 अंक हासिल किए हैं। ओडिशा के शोएब आफताब और दिल्ली की आकांक्षा सिंह ने 720 में से 720 अंक हासिल किए हैं। दोनों का परसेंटाइल स्कोर 99.9998537 है। एनटीए की ओर से जारी प्रेस रिलीज में शोएब आफताब को रैंक 1 और आकांक्षा को रैंक 2 दी गई है।

 

आकांक्षा सिंह को 720 में से 720 अंक और एक जैसी परसेंटाइल होने के बावजूद भी दूसरी रैंक मिली है। जबकि तीसरे तेलंगाना की छात्रा तुमाला स्निकिता रही हैं। चौथी रैंक पर राजस्थान के विनीत शर्मा और पांचवी पर हरियाणा की अमरीशा खेतान रही हैं। नीट टॉपर्स में छात्राओं का वर्चस्व रहा है।

एनटीए के डायरेक्टर जनरल विनीत जोशी ने बताया कि आकांक्षा की शोएब आफताब की तरह 720 अंक होने के बावजूद दूसरी रैंक इसलिए आई है, क्योंकि नियमानुसार रैंक निकालने के लिए विद्यार्थियों के पहले बायोलॉजी के नंबर, फिर कैमिस्ट्री के नंबर फिर नेगेटिव अंक देखे जाते हैं।

इसके बाद सबसे महत्वपूर्ण पहलु यह है कि जो उम्र में जो बड़ा होता है उसे रैंक में उपर रखा जाता है। इस मामले में दोनों विद्यार्थियो के एक जैसे अंक थे, इसलिए जन्मतिथि के आधार पर शोएब को रैंक 1 पर रखा गया है क्योंकि उनकी उम्र ज्यादा है।

Check Also

SSC JE परीक्षा 2019 का एडमिट कार्ड रिलीज, ssc.nic.in से करें डाउनलोड

SSC JE Admit Card 2019 Released: स्टाफ सेलेक्शन कमीशन ने एसएससी जेई परीक्षा 2019 का एडमिट …