अमेरिका का वो हत्याकांड जिसमें 60 लोगों ने खुद को बताया दोषी, लेकिन असल कातिल का अबतक नहीं पता

नई दिल्ली: दुनिया भर कई ऐसे हत्याओं के मामले देखे गए हैं जो बेहद ही चौकाने वाले हैं. साथ ही आज तक रहस्य बने हुए हैं. इन हत्याओं के कातिलों का आज तक कुल खुलासा नहीं हो सका है. ऐसा ही एक केस अमेरिका से देखा गया. इस मामले को ‘ब्लैक दाहिला मर्डर’ केस कहा जाता है. सन्न 1947 में हुई इस हत्या ने देश भर में भय का माहौल बना दिया था. माना जाता है कि ये मामला लॉस एंजिलिस के अनसुलझे मर्डर केसों में से एक है.

अमेरिका के बोस्टन की रहने वाली एलिजाबेथ शॉर्ट को ब्लैक दाहिला के नाम से जाना जाता रहा है. साल 1947 की 9 जनवरी को वो अचानक गायब हो गई थीं. जिसके 5 दिनों बाद उनकी लाश एक इलाके में मिली. हैरानी की बात ये है कि उनकी बॉडी कमर से आधी कटी हुई मिली थी. साथ ही शरीर के कई अंगों पर गहरे घाव भी थे. हत्यारों ने उनका मुंह और कान तक चीर दिया था.

वैसे तो हत्याओं के मामले में कातिल जुर्म को कबूल नहीं करता, लेकिन एलिजाबेथ शॉर्ट की हत्या के मामले में 60 लोगों ने इस जुर्म को कबूल किया था, जिनमें अधिक पुरुष थे. बताया जाता है कि इनका जुर्म कभी साबित नहीं हो सका जिसके चलते सभी को छोड़ दिया गया.

वहीं इस मामले में 60 लोगों ने एलिजाबेथ शॉर्ट की हत्या का जुर्म कबूल किया जिनमें से कई ऐसे भी है जिनका जन्म हत्या के वक्त हुआ ही नहीं था. ऐसे में पुलिस ने उन सभी पर मामलें को गुमराह करने का मुकदमा दर्ज कर दिया.

आपको बता दें, इस अनोखे हत्याकांड पर कई किताबें भी लिखी जा चुकी है. एलिजाबेथ शॉर्ट की हत्या का मामला सबसे अनसुलझा अपराधों में से एक माना जाता है क्योकिं एक तो असल कातिल का अब तक पता नहीं चला वहीं सैकड़ों लोग इस हत्या का जुर्म कबूल कर रहें है.

Check Also

कोरोना का असरः ठीक होने के बाद भी सामान्य नहीं हो सकेंगे मरीज, महीनों रहेगी थकान और सांस लेने में तकलीफ

लंदन. दुनिया भर में कोरोना का संकट जारी है। वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए …