Home / वायरल न्यूज़ / अभिशाप है यहां का पानी, 2 साल में गला देता है हैंडपंप

अभिशाप है यहां का पानी, 2 साल में गला देता है हैंडपंप

आगरा। एटा से महज तीन किलोमीटर दूर बसे दो गाँवों के लिए खारा पानी अभिशाप बना हुआ है। खारे पानी के चलते हर दूसरे साल हैंडपंप गल जाते हैं।  हालांकि ग्रामीणों की इस समस्या को देखते हुए जल निगम ने शीतलपुर ब्लॉक के गाँव बहादुरगढ़ और नगला मोदी में पेयजल लाइन बिछाई है, लेकिन यहां के लोगों का कहना है कि इसमें पानी आता ही नहीं।
बहादुरगढ़ और नगला मोती में जल निगम ने बीते कुछ सालों में कई हैंडपंप लगवाए हैं, लेकिन पानी खारा होने के कारण ये गल चुके हैं।  स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि पहले तो वे किसी तरह खारे पानी से ही काम चला लेते थे, लेकिन अब तो अधिकतर हैंडपंप गल चुके हैं। उन्हें पानी के लिए डेढ़ किलोमीटर दूर कासिमपुर गाँव जाना पड़ता है।
हालांकि पेयजल की समस्या को दूर करने के लिए शासन की ओर से कासिमपुर में करोड़ों की लागत से ओवरहेड टैंक बनवाई गई है और इसके लिए आसपास के गांवों में पाइपलाइन बिछाई गई है, लेकिन उसमें पानी ही नहीं आता। ग्रामीणों का कहना है कि पाइपलाइन छोटी के कारण पानी रिस-रिसकर आता है।

 

ग्रामीणों की सबसे बड़ी समस्या यह है कि अगर वे हैंडपंप लगवाएं भी तो वह साल-दो साल से अधिक नहीं चलता। पानी खारा होने के चलते गल जाता है।  बहादुरगढ़ रामखिलाड़ी (35 वर्ष) ने बताया, यहां के सभी हैंडपंप कुछ माह पहले ही खराब हुए हैं। गाँव में खारा पानी होने के कारण कोई भी हैडपंप दो वर्ष से अधिक नहीं चलता। खारे पानी के कारण इसके पाइप डेढ़-दो साल में ही गल जाते हैं।
Loading...

Check Also

भारत के इस मंदिर में हैं अद्धभूत शक्ति

भारत काफी रहस्यों से भरा हुआ है। यहां पर कदम-कदम पर ऐसी जानकारियां सामने आती ...