अपराधी डब्ल्यू सिंह गिरोह के तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया, रंगदारी के 50 हजार रुपए बरामद किए

 

पुलिस हिरासत में पकड़े गए अपराधी। बरामद डायरी में कुणाल हत्याकांड में बंद अभियुक्तों को जेल में खाना खर्चा भिजवाने तथा उसके परिवार वालों को पैसा दिए जाने का भी उल्लेख है।

  • पलामू के मेदिनीनगर थाना क्षेत्र से की गई गिरफ्तारी, दो बाइक, जाली वोटर कार्ड बरामद
  • गिरोह के चार सदस्य फरार, अपराधियों की तलाश में पुलिस की छापेमारी जारी

मेदिनीनगर शहर थाना क्षेत्र पुलिस ने अपराधी डब्ल्यू सिंह गिरोह के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से रंगदारी के 50 हजार रुपए भी बरामद किए गए हैं। बताया जा रहा है कि पुलिस ने गुप्त सूचना के बाद एसडीपीओ संदीप गुप्ता के नेतृत्व में टीम बनाकर तीनों अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही गिरफ्तार तीनों अपराधियों के चार साथी फरार बताए जा रहे हैं, जिनकी तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।

गिरफ्तार किए गए तीनों अपराधी गौतम सिंह उर्फ डब्ल्यू सिंह के गिरोह के बताए जा रहे हैं। तीनों की पहचान चतरा निवासी ऋषिकांत सिंह, गढ़वा के नगर ऊंटारी निवासी कौशल सिंह और पलामू के पिपरा निवासी अमित तिवारी के रूप में की गई है। जानकारी के मुताबिक, 11 अक्टूबर की रात पुलिस को गुप्त सूचना मिली की पांकी रोड रेडमा में अपराधी डब्ल्यू सिंह के गिरोह के अपराधी किसी ठेकेदार से रंगदारी वसूलने आ रहे हैं। सूचना के बाद एसडीपीओ संदीप गुप्ता के नेतृत्व में छापेमारी टीम का गठन किया गया और टीम को आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया गया।

गठित टीम ने बाइक सवार दो अपराधियों को पकड़ा
एसडीपीओ के नेतृत्व में गठित टीम ने पांकी रोड पर अपराधियों की तलाश में छापेमारी की। इस दौरान दो अपराधी पल्सर बाइक से 50 हजार रुपए के साथ पकड़े गए। पूछताछ में उन्होंने खुद को डब्ल्यू सिंह गिरोह का सदस्य बताया। उन्होंने बताया कि वे डब्ल्यू सिंह के घर में रहते हैं। डब्ल्यू सिंह और उसके भाइयों के बताने के बाद वसूली करते हैं। गिरफ्तार अपराधियों की निशानदेही पर डब्ल्यू सिंह के घर पर छापेमारी की गई। इस दौरान घर से गोविंद सिंह उर्फ छोटू सिंह का फोटो लगा राहुल सिंह के नाम का वोटर आईडी मिला। साथ ही पकड़े गए अपराधियों के पास से अलग-अलग पते का वोटर आईडी कार्ड, कई ग्रामीणों के जमीन के कागजात, कई डायरी बरामद की गई।

बरामद डायरी में कुणाल हत्याकांड में बंद अभियुक्तों को जेल में खाना खर्चा भिजवाने तथा उसके परिवार वालों को पैसा दिए जाने का भी उल्लेख है। डायरी में डबल्यू सिंह के गैंग के बैरिया निवासी राकेश सिंह द्वारा वसूली का भी उल्लेख किया गया है। इसके अलावा घर से एक एवेंजर बाइक बिना नंबर प्लेट का बरामद किया गया। पुलिस ने उपरोक्त डायरी, जाली कागजात, बाइक आदि को जब्त कर लिया। बताया जा रहा है कि अपराधी डब्ल्यू सिंह उर्फ गौतम सिंह अपने भाई गोविंद सिंह के साथ फरार रहकर डालटनगंज में अपने भाई गौरव सिंह, गैंग के सदस्य राकेश सिंह एवं अन्य गुर्गों से रंगदारी, जमीन पर कब्जा करना और ठेका मैनेज करने का धंधा चला रहा है।

गिरफ्तार अपराधियों के पास से बरामद सामान

  • 50 हजार रुपए नगद
  • दो बाइक (एवेंजर बिना नंबर प्लेट का)
  • सात अलग-अलग कंपनी का मोबाइल
  • दो डायरी, तीन जाली वोटर आईडी कार्ड एवं अन्य जाली दस्तावेज।

 

Check Also

पूर्व सीएम रघुवर दास बोले- झामुमो के डीएनए में ही गुंडागर्दी, सीएम जब लाठी-डंडे से पीटने की बात करें तो वहां की पुलिस कैसे अपराध रोकेगी

जनचौपाल को संबोधित करते रघुवर दास। रघुवर दास ने कहा कि जनता को झूठे सपने …