अपना बिजनेस शुरू कर करोड़ों कमाने का मौका! PNB मुफ्त में दे रहा है ट्रेनिंग….

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) की तरफ से महिलाओं को सशक्‍त बनाने के मकसद से खास ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू किया गया है. पीएनबी की तरफ से ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी गई है. बैं को इस ट्रेनिंग प्रोग्राम में भारत सरकार की तरफ से मदद दी जा रही है. यह प्रोग्राम बिल्‍कुल मुफ्त है लेकिन इसके लिए अप्‍लाई करते समय कुछ खास बातों का ध्‍यान रखना होगा.

महिला आयोग की तरफ से प्रोग्राम

पीएनबी का यह ट्रेनिंग प्रोग्राम राष्‍ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्‍लू) के सहयोग से संचालित होगा. इस प्रोग्राम के लिए अप्‍लाई करने की आखिरी तारीख 15 अप्रैल है. बैंक की तरफ से इसे ‘एम्‍पावरिंग वीमेन थ्रू एंटरप्रेन्‍योरशिप’ नाम दिया गया है. एनसीडब्‍लू हमेशा महिलाओं को समर्थ बनाने की दिशा में करने वाला संगठन है. आयोग का कहना है कि उसका मकसद देशभर में महिलाओं को सशक्‍त बनाकर एक अलग प्रभाव बनाने का है. आयोग की मानें तो वो महिलाओं को ज्ञानवान और क्षमतावान बनाकर उन्‍हें आगे बढ़ने के साथ ही उनमें छिपे उद्यमशीलता के गुणों को निखारने के लिए प्रयासरत है.

IIM बेंगलुरु कैसे करेगा मदद

एनसीडब्‍लू ने अपने इस मकसद को पूरा करने के लिए इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ बेंगलुरु (आईआईएम) के साथ मिलाया है. इसके अलावा एसएमई फोरम इंडिया की तरफ से भी उसे मदद दी जा रही है. यह संस्‍था देश की वो संस्‍था है जो स्‍मॉल और मीडियम उद्योगों को मदद मुहैया कराती है. इस प्रोग्राम के तहत ऐसी 5000 महिलाओं को चुना जाएगा जो उद्यमी बनने का सपना देखती आ रही हैं. चुनी हुई महिलाओं को आईआईएम के प्रोफेसर्स की तरफ से ट्रेनिंग दी जाएगी.

6 हफ्तों का है कोर्स

यह कोर्स 6 हफ्तों का होगा और एक एक्शन ओरिएंटेड बिजनेस और मैनेजमेंट कोर्स है. कोर्स के जरिए महिला प्रतिभागियों को एक व्यवस्थित, वैज्ञानिक विचारों और अवसरों के परीक्षण को एक आसान प्रक्रिया से रूबरू करवाया जाएगा. चुनी हुई प्रतिभागियों को ‘डू योर वेंचर’ विचारधारा के जरिए उद्यम शुरू करने की राह दिखाई जाएगी. प्रोग्राम के लिए महिला प्रतिभागी अपने सुविधाजनक समय पर किसी भी स्थान से भाग ले सकती हैं.

रोजाना देने होंगे 3 से 4 घंटे

रोजाना उन्‍हें 3 से 4 घंटे कोर्स के लिए देने होंगे. इस कोर्स में भाग लेने के लिए प्रतिभागियों को 18 साल से ज्‍यादा आयु का होना जरूरी है. साथ ही ये भी आवश्‍यक है कि वो भारत की नागरिक हों. प्रोग्राम में हिस्‍सा लेने के लिए जरूरी है कि प्रतिभागियों के पास आगे बढ़ने का एक लक्ष्‍य हो. उन्‍हें इसके साथ ही उनमें सफल उद्यमियों के अनुभवों से सीखने की ललक होनी चाहिए. प्रोग्राम के लिए उन्‍हें एक वीडियो भेजना होगा जो कम से कम 5 मिनट का होना चाहिए. यह वीडियो हिंदी या अंग्रेजी भाषा में हो सकता है. अभ्‍यर्थियों को अपने वीडियो यू-ट्यूब या वाइमो के जरिए भेजने होंगे.

Check Also

कोरोना के खिलाफ जंग, सरकारी खरीद के नियमों में किया गया बदलाव

नई दिल्ली : कोरोना जैसी जानलेवा बीमारी का मुकाबला करने के लिए केंद्र सरकार ने …