News India Live:अनलॉक के सुकून भरे 10 दिन:बाजार खुला, लोगों ने संयम दिखाया तो नहीं बढ़ पाई पॉजिटिविटी रेट, अस्पताल में एक कोविड वार्ड बंद

बाजार में भी नहीं दिख रही ज्यादा भीड़।

गुना में कोरोना कर्फ्यू को खुले हुए 10 दिन हो गए हैं। जिले के लिए ये 10 दिन राहत भरे रहे हैं। कोरोना के पॉजिटिव केस एक दिन में अधिकतम 3 ही आए हैं। वहीं 2 दिन ऐसे रहे जब कोरोना के केस शून्य थे। रियायत और टीकाकरण के बीच ये आंकड़े सुकून देने वाले है। इसी अनुशासन और संयम के साथ जिलेवासी रहे तो कोरोना से पूरी तरह मुक्ति मिल जाएगी।

अप्रैल में एक दिन में 100 से ऊपर कोरोना के केस पहुंच गए थे। अप्रैल के 10 दिन तो ऐसे रहे, जब इन दिनों में 1500 से ज्यादा पॉजिटिव केस आए। पूरे अप्रैल माह में 2259 कोरोना के केस आए। वहीं मई महीने में 1004 कोरोना के केस आए थे। हालांकि मई के शुरुआती 10 दिन को छोड़ दिया जाए तो अगले 20 दिनों में किसी भी दिन कोरोना के आंकड़े 50 से ऊपर नहीं गए।

पॉजिटिविटी रेट लगातार 5 प्रतिशत से कम रहने पर मई के आखिरी हफ्ते में ही जिले में कुछ रियायतें दे दी गई थीं। जून शुरू होते ही जिले को अनलॉक कर दिया गया। अभी यह अनलॉक 15 जून तक के लिए किया गया है। उसके बाद समीक्षा बैठक की जाएगी। हालांकि शुरुआती आदेश में अनलॉक के लिए दी गई रियायतों में प्रशासन ने भी अब बढ़ोतरी करना शुरू कर दिया है। इसी वजह से जून के शुरुआती 9 दिनों में किसी भी दिन पॉजिटिव केस की संख्या 10 का आंकड़ा नहीं छू पाई है।

जून के 9 दिनों में आए पॉजिटिव केस
1 जून – 4
2 जून – 2
3 जून – 3
4 जून – 8
5 जून – 1
6 जून – 0
7 जून – 2
8 जून – 0
9 जून – 3

जून के शुरुआती 9 दिनों में 23 केस आए। ये सभी प्रतिदिन एक हजार से ऊपर के जांचों में निकले हैं। इन 9 दिनों में 10 हजार से ऊपर सैंपलों की जांच की गई है। पाजिटिविटी रेट रोजाना 1 प्रतिशत के नीचे ही रहा है। वहीं अब जिला अस्पताल में बनाया गया कोविड केयर सेंटर भी खाली हो गया है। अप्रैल में जहां हालत भयावह होने से अस्पताल की नई बिल्डिंग सहित पुरानी बिल्डिंग में कोरोना वार्ड बनाना पड़ा था। अब एक वार्ड को बंद कर दिया गया है।

 

खबरें और भी हैं…

Check Also

कोरबा जिला युवा कांग्रेस के तत्वाधान में चिमनी हादसे में शहीद हुए श्रम वीरों को शांतिपूर्ण रूप से अर्पित की श्रद्धांजलि

कोरबा  : कोरबा जिला युवा कांग्रेस के तत्वाधान में चिमनी हादसे में शहीद हुए श्रम …