अजरबैजान-आर्मेनिया में घमासान, शहर बना श्मशान! अबतक 400 से ज्यादा लोग मारे गए

दुनिया के दो देश ऐसे भिड़े हैं कि शहर श्मशान में तब्दील हो गए. आसमान से मिसाइल मौत की बारिश कर रही है और नीचे धरती पर लाशों का ढेर लग रहा है. अजरबैजान ने आर्मेनिया सेना की तबाही की कुछ तस्वीरें जारी की हैं. नागोर्नो काराबख इलाके में चल रहे संघर्ष को लेकर अजरबैजान का दावा है कि उसने आर्मेनियाई सेना के लश्कर को जमींदोज कर दिया है.

 

अजरबैजान के रक्षा मंत्रालय ने अचूक निशाने के सबूत के तौर पर एक वीडियो भी जारी किया है. ताबड़तोड़ हवाई अटैक हो रहे हैं. वीडियो में सैनिकों की हरकत साफ नजर आ रही है. हमले से ठीक पहले सैनिक भागते नजर आ रहे हैं. हमले से चंद सेकेंड पहले अफरा-तफरी मचती है और हमला हो जाता है.

 

हमले में 9 लोग मारे गए, 30 से ज्यादा घायल
अजरबैजान का आरोप है कि आर्मेनियाई सेना ने शनिवार-रविवार की रात उसके दूसरे सबसे बड़े शहर गांजा समेत कई जगहों पर मिसाइल से हमले किए. इस हमले में 9 लोग मारे गए जबकि 30 से ज्यादा घायल हो गए.

 

पिछले हफ्ते भी आर्मेनिया पर अजरबैजान के गांजा शहर में हवाई हमले का आरोप लगा था. शहर के रिहायशी इलाकों में आर्मेनिया के हमले की तस्वीरें भी सामने आई थीं. अब एक बार फिर आर्मेनिया ने रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया है. जबकि आर्मेनिया का आरोप है कि अजरबैजान ने सीजफायर के बावजूद स्टेपनेकार्ट शहर पर हमले किए.

 

युद्धविराम की सहमति बनने के बाद फिर गोलीबारी शुरू
शनिवार को रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन की दखल के बाद अजरबैजान और आर्मेनिया के बीच सीजफायर यानी युद्धविराम की सहमति बनी थी. दोनों देश के सैनिक संभले भी नहीं थे कि फिर से गोलाबारी शुरू हो गई. अजरबैजान और आर्मेनिया दोनों एक दूसरे पर पहले हमला करने का आरोप लगा रहे हैं.

 

अबतक 400 से ज्यादा लोग मारे गए
अजरबैजान-आर्मेनिया में नागोर्नो-काराबख को लेकर 27 सितंबर से युद्ध छिड़ा है. युद्ध में अब तक 400 से ज्यादा लोग मारे जा चुके हैं. नागोर्नो-काराबख अजरबैजान का हिस्सा है जिसपर आर्मेनिया समर्थिक विद्रोहियों का कब्जा है और इसी नागोर्नो-काराबख को लेकर कोहराम मचा हुआ है. तनाव के बीच आर्मेनिया ने अजरबैजान पर एक और बड़ा आरोप लगाकर सनसनी मचा दी है.

 

आर्मेनिया ने सोशल मीडिया पर वीडियो जारी करते हुए आरोप लगाया है कि अजरबैजान ने युद्ध के लिए सीरिया से लड़ाके मंगवाए हैं. अजरबैजान की सेना से मिलती जुलती वर्दी वाले लड़ाकों का वीडिया जारी करते हुए आर्मेनिया ने दावा किया है कि तुर्की और पाकिस्तान की मदद से अजरबैजान ने सीरिया से लड़ाकों को मंगवाया है. अजरबैजान-आर्मेनिया की ये आग दुनिया भर को झुलसाने की तरफ बढ़ रही है.

Check Also

सर्वे में खुलासा- विदेश नीति के मामले में ट्रंप की तुलना में जो बाइडेन साबित होंगे ज्यादा प्रभावी राष्ट्रपति

न्यूयॉर्कः अंतररराष्ट्रीय संबंधों के विशेषज्ञों के एक सर्वे में दावा किया गया है कि अगर डेमोक्रेटिक …