Monday , February 18 2019
Home / Tag Archives: गुड मॉर्निंग : प्रेमपात्र होने के बजाय

Tag Archives: गुड मॉर्निंग : प्रेमपात्र होने के बजाय

गुड मॉर्निंग : प्रेमपात्र होने के बजाय, विश्वासपात्र होना कहीं ज्यादा बेहतर है

मैं खुश हूँ कि कोई मेरी बात तो करता है। बुरा कहता है तो क्या हुआ, वो याद तो करता है। कौन कहता हैं की नेचर और सिग्नेचर कभी बदलता नही। बस एक चोट की ज़रूरत हैं, अगर ऊँगली पे लगी तो सिग्नेचर बदल जाता है और दिल पे लगी ...

Read More »