Sunday , July 21 2019
Home / विदेश / 28 लाख रु. जुटाने का लक्ष्य,स्कूलों का कर्ज चुकाने के लिए 2 बहनों ने नींबू पानी का स्टाल लगाया

28 लाख रु. जुटाने का लक्ष्य,स्कूलों का कर्ज चुकाने के लिए 2 बहनों ने नींबू पानी का स्टाल लगाया

वॉशिंगटन. नार्थ कैरोलिना में रहने वाली 13 साल की हेली और 11 साल की हन्ना हैगर का नाम इस समय स्थानीय लोगों की जुबान पर है। दोनों बहनें नींबू पानी का स्टाल लगाकर 41 हजार डॉलर (करीब 28 लाख रुपए) जुटाने की कोशिश कर रही हैं। दोनों खुद के लिए ये मशक्कत नहीं कर रहीं, बल्कि उनका लक्ष्य जिले के स्कूलों के उस कर्ज को चुकाना है जो बच्चों के खाने का इंतजाम करते हैं।

पहले दादा के अस्पताल के लिए रकम जुटाना चाहती थीं 
हेली और हन्ना की मां एरिन हैगर ने बताया कि दोनों बहनें पहले अपने दादा के अस्पताल के लिए पैसा जुटाना चाहती थीं, लेकिन तभी उन्हें पता चला कि जिले के तमाम स्कूल सरकार के 28 लाख के कर्जदार हैं। उसके बाद उन्होंने इस कर्ज को चुकाने का बीड़ा उठाया। उनका कहना है कि हन्ना स्कूल साउथवुड एलीमेंट्री पर सरकार का लगभग 2 लाख रुपए का कर्ज है। स्कूल को यह रकम कैफेटेरिया चार्ज के रूप में चुकानी है।

पूरे जिले के स्कूलों का कर्ज 28 लाख रुपए

जिले के स्कूलों की बात की जाए तो कुल रकम 28 लाख रुपए है। हैगर का कहना है कि अपने बच्चों का पेट भरने के लिए स्कूल सरकार के कर्जदार बन गए। बच्चों के पास खाने के पैसे नहीं थे। स्कूलों ने उन्हें खाना तो दिया पर इस प्रक्रिया में उन पर भारी भरकम कर्ज हो गया।

फेसबुक पर भी चलाया कैंपेन

उनकी मां कहती हैं कि कब तक रकम जुटेगी, वे खुद भी नहीं जानतीं। हालांकि, फेसबुक पर चलाई मुहिम के बाद लोग मदद के लिए आगे आए। किसी ने कप डोनेट किए तो किसी ने कोई दूसरी चीज। नींबू पानी के स्टाल पर वे स्नैक भी बेचती हैं, जिससे ज्यादा से ज्यादा रकम जुटा सकें।

बच्चों के लिए कर्जदार होने में शर्म नहींः प्रिंसिपल 

साउथवुड एलीमेंट्री की प्रिंसिपल एशले लेम्ले का कहना है कि बच्चों के लिए कर्जदार होने में कोई शर्म की बात नहीं है। उनका कहना है कि दोनों बहनों की कोशिश पर उन्हें गर्व है। दोनों वाकई अद्भुत हैं। दोनों समाज के लिए बड़ा काम कर रही हैं।

Loading...

Check Also

नासा का खुलासा, चांद पर थी प्राचीन एलियन सिटी

वाशिंगटन :20 जुलाई 1969 को चांद पर पहली बार इंसान पहुंचा था। पूरी दुनिया इस ...