Home / देश / LS चुनाव: जयललिता और करुणानिधि के बिना पहली बार बिना चुनावी मैदान में AIADMK-DMK

LS चुनाव: जयललिता और करुणानिधि के बिना पहली बार बिना चुनावी मैदान में AIADMK-DMK

चेन्नई:39 सीटों के साथ केंद्र में बनने वाली सरकार के लिए हमेशा ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे तमिलनाडु में इस बार दोनों अहम क्षेत्रीय पार्टियां, एआईएमडीएमके और डीएमके अपने प्रमुख नेता (जयललिता और करुणानिधि) के बिना चुनावी मैदान में हैं। ऐसे में 2019 लोकसभा चुनाव की लड़ाई दोनों ही पार्टियों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। इस चुनाव में जीत से काफी हद तक दोनों ही पार्टियों का भविष्य भी तय होना है। इसके अलावा राजनीति में नए महारथी टीटीवी दिनाकरन और अभिनेता से नेता बने कमल हासन की भी चुनौती दोनों पार्टियों के सामने है।

एआईएडीएमके प्रमुख जयललिता और डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि के बाद पहली बार सूबे में लोग लोकसभा चुनाव के लिए मतदान करेंगे। सीएम के.पलनीसामी (एआईडीएमके) और डीएमके नेता एमके स्टालिन के लिए यह चुनाव किसी परीक्षा से कम नहीं है। दोनों ही नेताओं को सूबे के लोगों और पार्टी के भीतर अपने नेतृत्व को मजबूती से रखने के लिए इस परीक्षा में पास होना बेहद जरूरी है।

तमिलनाडु की राजनीति की बात करें तो यहां एक तरफ बीजेपी और एआईडीएमके का गठबंधन है तो दूसरी तरफ डीएमके और कांग्रेस साथ हैं। डीएमके सूबे में सत्ता विरोधी लहर और बीजेपी खासकर पीएम मोदी को टारगेट कर सत्ता में वापसी की राह देख रही है। उधर, सत्तारूढ़ एआईएडीएमके भ्रष्टाचार के मुद्दे पर डीएमके को घेरने की तैयारी में है।

Loading...

Check Also

4 बजे तक औसत 52% वोटिंग: बंगाल में एक बूथ के पास बम फेंका गया, मुर्शिदाबाद में झड़प के दौरान वोटर की मौत

नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण के लिए 15 राज्यों की 117 सीटों पर वोटिंग ...