Home / एजुकेशन / CBSE स्कूलों : क्‍लास वन से 8 तक अनिवार्य हुई शारीरिक शिक्षा और खेल

CBSE स्कूलों : क्‍लास वन से 8 तक अनिवार्य हुई शारीरिक शिक्षा और खेल

रांची:बच्चों की सेहत को बेहतर रखने के लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा मंडल (सीबीएसई) ने पहली से 8वीं क्लास के बच्चों को स्वास्थ्य एवं शारीरिक शिक्षा के जरिये खेलों से जोडऩे का फैसला किया है। 9 मार्च को जारी नई अधिसूचना के मुताबिक वर्ष 2019-20 से शुरू होने वाली नई कक्षाओं में पहली से 8वीं क्लास के सभी बच्चों को रोजाना कम से कम एक क्लास स्वास्थ्य एवं शारीरिक शिक्षा के लिए दी जाए।

सीबीएसई अध्यक्ष अनीता करवल ने इस संदर्भ में सभी स्कूलों के प्राचार्य व संस्था के हेड को पत्र लिखकर नए सत्र से इसे लागू करने का निर्देश दिया है। इसके तहत स्कूल के बच्चों को किसी न किसी खेल से जुडऩा होगा ताकि उनका शारीरिक व मानसिक विकास हो सके। साथ ही उनमें लोगों से मिलने व टीम भावना जागृत हो। 2019-20 सत्र से देश में सीबीएसई से संबद्ध सभी स्कूलों में पहली से 8वीं क्लास तक स्वास्थ्य एवं शारीरिक शिक्षा को मुख्य विषय के तौर पर लिया जाएगा। लेकिन, इस मुख्यधारा में जुड़े नए विषय की कोई परीक्षा नहीं होगी।

अधिसूचना में स्पष्ट रूप से लिखा गया है कि इस खेल की कक्षा में बच्चों को किसी भी तरह का सिद्धांत नहीं पढ़ाया जाएगा, बल्कि यह कक्षा सिर्फ प्रयोगात्मक रहेगी। स्कूल को यह सुनिश्चित करना होगा कि बच्चे किसी न किसी एक खेल के भागीदार बने। सीबीएसई ने स्कूलों को गाइडलाइन भी जारी किया है। इसके तहत कुछ खेलों का चयन किया गया है। जिसमें बच्चों को भाग लेना अनिवार्य होगा। बच्चे अपने इच्छानुसार इन खेलों में से किसी का चयन कर सकते हैं। इस आदेश के बाद स्कूलों के लिए खेल सिर्फ औपचारिकता नहीं रहेगी। स्कूल में प्रतियोगिताओं का आयोजन करना होगा और अपने खिलाडिय़ों को सांस्थानिक प्रतियोगिताओं के अलावा अन्य प्रतियोगिताओं के लिए भी तैयारी करानी होगी।

Loading...

Check Also

स्नातकोत्तर डिग्री पास वरिष्ठ रेजिडेंट के पदों पर करें अप्लाई

उन्नत केंद्र उपचार अनुसंधान और शिक्षा कैंसर मुंबई ने वरिष्ठ रेजिडेंट (बेहोशी) के रिक्त पद को ...