Home / Home / 133 मकान ढहे ,उत्तर प्रदेश में आंधी-बारिश से हुए हादसों में 15 की मौत

133 मकान ढहे ,उत्तर प्रदेश में आंधी-बारिश से हुए हादसों में 15 की मौत

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में पिछले तीन दिनों में भारी बारिश और आंधी से 14 जिलों में 15 लोगों की मौत हो गई। सरकारी डाटा के मुताबिक 9 से 12 जुलाई के बीच 23 जानवर भी मारे गए जबकि 133 मकान ढहे।प्रभावित होने वाले जिलों में उन्नाव, अंबेडकर नगर, प्रयागराज, बाराबंकी, हरदोई, खिरी, गोरखपुर, कानपुर नगर, पीलीभीत, सोनभद्र, चंदोली, फिरोजाबाद, मऊ और सुल्तानपुर हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक- लखनऊ में अगले पांच दिनों तक आसमान में बादल छाए रहेंगे। एक या दो बार बारिश के साथ आंधी की भी आशंका है। उत्तराखंड, पूर्वी उत्तर प्रदेश, झारखंड, मध्य महाराष्ट्र, कोंकण, गोवा, तटीय कर्नाटक, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में शनिवार को भारी बारिश हो सकती है।

जिलेमौत
हरदोई1
गोरखपुर1
सोनभद्र1
चंदौली1
मऊ1
सुल्तानपुर1
उन्‍नाव2 (घायल)
अंबेडकर नगर9

असम के 17 जिले बाढ़ प्रभावित

देश के पूर्वोत्तर इलाके में भी भारी बारिश जारी है। भूस्खलन और बाढ़ से इस इलाके में शुक्रवार को 7 लोगों की जान गई। असम में ब्रह्मपुत्र में आई बाढ़ से 4.23 लाख लोग प्रभावित हैं। असम में धेमाजी, लखीमपुर, विश्वनाथ, जोरहाट, डारैंग, बारपेटा, नलबारी, मजौली, चिरंग, डिब्रूगढ़ और गोलाघाट समेत 17 जिलों में बाढ़ है। गोलाघाट में बाढ़ से 3 लोगों की मौत हो गई।

असम सबसे ज्यादा असर बारपेटा पर पड़ा है। यहां 85 हजार लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। इसके अलावा 800 गांव और 41 रेवेन्यू सर्किल बाढ़ में डूब गए हैं। लोगों को राहत देने के लिए कैंपों की व्यवस्था की गई है। काजीरंगा नेशनल पार्क भी बाढ़ से प्रभावित हुआ है।

Loading...

Check Also

ली बच्चे गाड़ी चलाते मिले तो पैरेंट्स के साथ स्कूल पर भी कार्रवाई

सूरत. नए मोटर व्हीकल कानून लागू होने के बाद भी नाबालिग स्कूली बच्चे गाड़ी चला रहे ...