Home / हेल्थ &फिटनेस / हो जाएं सावधान आप भी करते हैं थर्मोकोल का इस्तेमाल तो

हो जाएं सावधान आप भी करते हैं थर्मोकोल का इस्तेमाल तो

आजकल रेस्टोरेंट पर थर्माकोल के कप में चाय पीते हुए दिखाई देते हैं. इसी के साथ ही किसी भी पार्टी-फंक्शन में भी आजकल थर्माकोल के कप ही इस्तेमाल किए जाते हैं. यूज़ एंड थ्रो होते हैं ये और आसानी से पर्यावरण में घुल मिल भी जाते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि थर्माकोल कप कितने नुकसानदायक हैं और आपकी जान के लिए खतरा हैं. आज हम इसी के बारे में बताने जा रह हैं कि आपकी सेहत के लिए कितने हानिकारक हो सकते है ये.

पेट खराब
पेट खराब होने के पीछे भी थर्मोकोल के डिस्पोजेबल का नियमित रूप से इस्तेमाल करना हो सकता है. ऐसा इसलिए क्योंकि यह पूरी तरह से हाइजीनिक नहीं होते हैं. इनमें गर्म चीजें डालने पर इसमें जमे बैक्‍टीरिया और कीटाणु उसमें घुल जाते हैं और शरीर के अंदर पहुंच जाते हैं.

एलर्जी
अगर आप नियमित रूप से प्लास्टिक या थर्मोकोल के कप में चाय, कॉफी या गर्म चीजें पीते हैं और ऐसे में आपको एलर्जी हो जाए, तो इसकी वजह यह कप हो सकता है. बॉडी पर रैशेज होने लगेंगे और यह धीरे-धीरे बढ़ भी सकते हैं. थर्मोकोल के इस्तेमाल से हुई एलर्जी का पहला संकेत गले में खराश या दर्द होना है.

कैंसर होने की समस्‍या 
विशेषज्ञों की माने तो थर्माकोल के कप पॉलीस्टीरीन से बने होते हैं, जो हमारी सेहत के लिए बेहद नुकसानदेह है. ऐसे में यह जरूरी है कि जितना हो सके इसके इस्तेमाल से बचें. जब हम थर्माकोल के कप में गर्म चाय डालकर पीते हैं, तो इसके कुछ तत्व गर्म चाय के साथ घुलकर पेट में चले जाते हैं और यह अंदर जाकर कैंसर जैसी गंभीर बीमारी को जन्म देते हैं.

Loading...

Check Also

अगर होने जा रही है आपकी शादी, जरूर ध्यान में रखें ये 5 हेल्थ टिप्स

शादियों का सीजन चल रहा हैं जो कि किसी भी व्यक्ति के लिए बहुत महत्वपूर्ण ...

अल्सर की समस्या देती हैं असहनीय पीड़ा, आराम पाने के लिए करें इनका सेवन

अक्सर देखा जाता हैं कि कई लोगों को बार-बार पेट में दर्द उठने लगता हैं ...

ट्राइजेमिनल न्यूराल्जिया से पीड़ित हैं सलमान खान, जानें इससे जुड़ी पूरी जानकारी यहां

बॉलीवुड के भाईजान सलमान खान को सभी जानते हैं और काम के प्रति लगन को ...

रोजाना नाश्ते में खा लें एक मुट्ठी अंकुरित चने, होंगे ये 10 अनोखे फायदे

वैसे तो अंकुरित चने को सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है क्योंकि इसमें ...