Wednesday , July 24 2019
Home / वायरल न्यूज़ / हाथों पर उग जाता है पेड़,इस शख्स को है खतरनाक बीमारी

हाथों पर उग जाता है पेड़,इस शख्स को है खतरनाक बीमारी

दुनिया में कई अजीब बीमारियां हैं जिनके इलाज भी मौजूद हैं. लेकिन कुछ ऐसी भी  हैं जिनके बारे में आप सुनकर हैरान रह जायेंगे. आज हम ऐसी ही एक अजीब बीमारी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप हैरत में पड़ जायेंगे. बांग्लादेश के अब्‍दुल बजनदार (Abdul Bajandar) एक अजीब बीमारी का शिकार है. इस बीमारी की वजह से उनके हाथ और पैर पर बार-बार पेड़ की शाखाओं जैसी आकृतियां उभर आती हैं. 2016 से लेकर अब तक अब्‍दुल बजनदार के 25 ऑपरेशन हो चुके हैं. ये कहा जा सकता है कि इस बीमारी में उसके हाथों पर पेड़ उग जाते हैं.

इस बीमारी से परेशान अब्‍दुल ने कहा कि वह चाहता है कि उसके हाथ काट दिए जाएं ताकि उसे असहनीय दर्द से छुटकारा मिल सके. बिगड़ती हालत को देखते हुए एक बच्‍चे के पिता 28 वर्षीय अब्‍दुल को इसी साल जनवरी में अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था. इस बार उनके हाथ पर पहले से भी लंबी पेड़ जैसी संरचनाएं उभर आईं हैं. इस बीमारी से उस खुद भी परेशान हैं साथ ही उसके परिवार वाले भी काफी दुखी और चिंतित हैं.

उन्‍होंने कहा, ‘मैं और दर्द सहन नहीं कर सकता. मैं रात को सो नहीं पाता हूं. मैंने डॉक्‍टरों से कहा कि वे मेरे हाथ काट दें ताकि मुझे कुछ राहत मिल सके.’ आपको बता दें कि अब्‍दुल एक अजीब बीमारी एपिडर्मोडिसप्लासिया वेरुसीफॉरमिस (Epidermodysplasia Verruciformis) से जूझ रहे हैं. इस बीमारी को ‘ट्री मैन सिंड्रोम’ के नाम से भी जाना जाता है.

एएफपी के मुताबिक, डॉक्‍टरों को लग रहा था कि उन्‍होंने इस अजीब बीमारी को हरा दिया है लेकिन पिछले साल मई में हुई सर्जरी के बाद अब्‍दुल फिर ढाका स्थित क्लिनिक पहुंच गए.

इलाज के लिए जाना चाहते है विदेश

अब्‍दुल बेहतर इलाज के लिए विदेश जाना चाहते हैं लेकिन उनके पास इसके लिए पैसे नहीं हैं. ढाका मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल की मुख्‍य प्‍लास्टिक सर्जन समांथा लाल सेन ने कहा कि सात डॉक्‍टरों का एक बोर्ड मंगलवार को बजनदार की हालत पर चर्चा करेगा. उन्‍होंने कहा, ‘वह अपने विचार रख चुके हैं. लेकिन हम वही करेंगे जो उनके लिए सबसे अच्‍छा होगा.’

Loading...

Check Also

छात्रा शौच के लिए गयी थी , एक के बाद एक गए 4 लड़के और…

आजकल बढ़ते अपराध के मामले सभी के लिए हैरानी का सबब बने हुए हैं. ऐसे ...