Saturday , November 17 2018
Home / Featured / हर मोर्चे पर असफल रही है मोदी सरकार: पी चिदंबरम

हर मोर्चे पर असफल रही है मोदी सरकार: पी चिदंबरम

कोलकाता:नोटबंदी के दो साल पूरे होने के मौके पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने गुरुवार को केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा और कहा कि मोदी सरकार हर मोर्चे पर असफल रही है। महानगर में प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय विधानभवन में पत्रकारों से मुखातिब चिदंबरम ने कहा कि यह सरकार अब अपने अच्छे दिन के वादे को भूल गई है। अब विकास, नौकरी, निवेश, ज्यादा आय या ग्रोथ की कहीं चर्चा नहीं है। आजकल हम जो भी चर्चा सुनते हैं, वह केवल हिंदुत्व का एजेंडा है। उन्होंने नोटबंदी के दो साल पूरे होने को लेकर भी केंद्र सरकार को जमकर कोसा और कहा कि नोटबंदी से फेक मनी खत्म नहीं हुई बल्कि जाली नोट बनाने वालों ने 2,000 और 5,00 रुपये के नए नोटों की भी फेक करंसी तैयार कर ली। नोटबंदी के समय अमान्य किए गए सभी 99.3 फीसद नोट वापस आरबीआइ के पास आ गए।

चिदंबरम ने कहा कि वास्तव में सभी अमान्य नोटों को बैंक काउंटर पर एक्सचेंज किया गया। नोटबंदी को सरकार की ओर से लॉन्च की गई मनी लॉन्डि्रंग स्कीम बताया। चुनाव के ठीक बाद प्रधानमंत्री ने देश के लोगों से सभी विवादित और विभाजनकारी मुद्दों को भूल विकास पर फोकस करने की अपील की थी। आज विकास या अच्छे दिन का वादा भुलाया जा चुका है। प्रधानमंत्री खुद विवादित मुद्दों को हवा देते हैं। संघ से जुड़े लोगों से लेकर मंत्री व भाजपा के नेता विभाजनकारी मुद्दों पर बातें कर रहे हैं और लिख रहे हैं।

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने कहा कि मोदी सरकार आरबीआइ पर कब्जे की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि आरबीआइ सरकार नहीं है, ना ही वह किसी कंपनी की बोर्ड है। लिहाजा, आरबीआइ के काम में दखल देने के कई दुष्परिणाम हो सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर आरबीआइ से विवाद जारी रहता है या गवर्नर इस्तीफा देने को मजबूर होते हैं तो इसके परिणाम काफी भयानक होंगे। चिदंबरम ने कहा कि वे उन दुष्परिणामों पर फिलहाल खुलकर कुछ नहीं कहेंगे। चिदंबरम ने तंज भरे अंदाज में कहा कि इस बात पर कोई संदेह नहीं है कि देश की जनता ऐसे विकास पर गौर करेगी और जब उसे मौका मिलेगा, वह उचित जवाब भी देगी।

पूर्व वित्त मंत्री ने आगे कहा कि हाल में कर्नाटक में लोगों को मौका मिला था और उन्होंने कांग्रेस-जेडीएस के पक्ष में वोट किया। नोटबंदी के बाद उपचुनावों में भाजपा को तगड़ा झटका लगा। अब भाजपा और आरएसएस के लोग हिंदुत्व के अजेंडे को हवा दे रहे हैं। चिदंबरम ने कहा कि साढ़े चार साल पहले उन्होंने (नरेंद्र मोदी) विकास, नौकरियों और ग्रोथ की बात की थी। उन्होंने इनमें से कुछ भी हासिल नहीं किया। ऐसे में अब वे हिंदुत्व, विशाल मंदिर, भव्य मूर्तियों की बातें कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार पूरी तरह से फेल रही है। चिदंबरम ने कहा कि भाजपा के खिलाफ अगर राज्यों के हिसाब से गठबंधन होते हैं तो कांग्रेस को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि राज्यवार गठबंधन से कांग्रेस को लाभ होगा। राज्यवार गठबंधन भाजपा को हराने का सबसे अच्छा तरीका है। कहा कि कर्नाटक की तरह ही दूसरे राज्यों में अगर गठबंधन होते हैं तो उसके अच्छे नतीजे देखने को मिलेंगे।

Loading...

Check Also

दुनिया की 10 सबसे खूबसूरत मस्जिदों की लिस्ट हुई जारी, एक भारतीय मस्जिद भी शामिल

दुनिया में कई धर्म है और इन धर्मों को मानने वालों की संख्या भी लाखों ...